कोरोना संक्रमण:संक्रमण थमते ही आंगनबाड़ी केंद्रों को स्कूलाें से जोड़ने की शुरू होगी प्रक्रिया

जहानाबाद8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • स्कूल पूर्व शिक्षा को व्यवस्थित करने के लिए उठाया गया कदम

स्कूल पूर्व शिक्षा को व्यवस्थित करने के लिए आंगनबाड़ी केंद्रों को निकटवर्ती प्राथमिक विद्यालयों से जोड़ा जाएगा। कोरोना संक्रमण घटने के बाद इस दिशा में कवायद तेज की जाएगी। बच्चों की सही मानसिक एवं शारीरिक विकास में आंगनबाड़ी केंद्रों की भूमिका अहम मानी जाती है।

जिला में कई आंगनबाड़ी केंद्र किराए के भवन में चल रहे हैं और अब ऐसे संचालित आंगनबाड़ी केंद्रों को नजदीकी प्राथमिक विद्यालयों के साथ सम्बद्ध किया जाएगा। समेकित बाल विकास सेवाएं निदेशालय के निर्देशक आलोक कुमार ने डीपीओ को पत्र जारी कर आंगनबाड़ी को नजदीकी प्राथमिक विद्यालय में टैग करने का निर्देश दिया है।

जिला कार्यक्रम पदाधिकारी को भेजे पत्र में कहा है कि जो आंगनबाड़ी केंद्र प्राथमिक विद्यालय परिसर या विद्यालय के भवन में संचालित हो रहा है, वैसे आंगनबाड़ी केंद्र को नजदीकी प्राथमिक विद्यालय के साथ टैग करे संचालित कराए जाएं। जारी पत्र में बताया गया है कि जिस वार्ड में आंगनबाड़ी केंद्र चल रहा है और वहां प्राथमिक विद्यालय नहीं है तो पास के प्राथमिक विद्यालय से उसे अटैच कर दिया जाए।

वैसे आंगनबाड़ी केंद्र जो आईसीडीएस द्वारा बनाए गए भवनों के अतिरिक्त अन्य सरकारी भवनों जैसे पंचायत भवन, सामुदायिक भवन, सरकारी लाइब्रेरी आदि में संचालित हैं। उसे संबंधित वार्ड या वार्ड के निकटतम प्राथमिक विद्यालय से संबंध किया जाए। वैसे आंगनबाड़ी जो किराए के भवन से संचालित हैं उन्हें प्राथमिक विद्यालय के प्रांगण में संचालित करने का निर्देश दिया गया है।

ग्रामीण क्षेत्रों में तीन से छह वर्ष के बच्चों और उनकी मां को कुपोषण से बचाने के लिए भारत सरकार द्वारा एकीकृत बाल विकास सेवा कार्यक्रम के अंतर्गत आंगनबाड़ी योजना को आरंभ किया गया है।

खबरें और भी हैं...