आयोजन:काॅमर्शियल विवाद में समय और धन की बर्बादी से बचने के लिए लें विधिक सेवा प्राधिकार की मदद

जहानाबाद2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जागरुकता शिविर में शामिल अधिकारी व अन्य। - Dainik Bhaskar
जागरुकता शिविर में शामिल अधिकारी व अन्य।
  • अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश राकेश कुमार की अगुआई में जागरूकता शिविर का आयोजन

जिला विधिक सेवा प्राधिकार के द्वारा मंगलवार को यहां राजेन्द्र जिला पुस्तकालय के सभागार में कामर्शियल विवाद (वाणिज्य) को लेकर एक जागरूकता शिविर का आयोजन कर व्यवसायियों को उनके कामकाजी विवादों के निबटारे के बारे में जरूरी जानकारियां दी गई। अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश राकेश कुमार की अध्यक्षता में आयोजित कार्यक्रम का संचालन पुस्तकालय के सचिव संतोष श्रीवास्तव ने किया। इस अवसर पर चैंबर ऑफ कॉमर्स के अध्यक्ष कैलाश पोद्धार, सचिव चन्द्रशेखर आजाद, शिक्षाविद् एवं स्वयंसेवी संस्थान ज्योति के अध्यक्ष डॉ एसके सुनील, अपर लोक अभियोजक बिन्दु भूषण सिन्हा सहित कई अन्य उपस्थित थे। वाणिज्य विवाद का विषय प्रवेश पैनल अधिवक्ता संजय कुमार सिन्हा ने किया।

उन्होंने व्यवसायियों को होने वाले छोटे-मोटे एवं बड़े विवादों के निपटारा सुलभ ढंग से कैसे हो, इसकी व्यवसायियों को विस्तार से जानकारियां दी। अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश राकेश कुमार ने कहा कि छोटे-मोटे वाणिज्यक विवाद के लिए विधिक सेवा प्राधिकार का हेल्प डेस्क सबसे कारगर प्लेटफार्म है। वहां संबंधित लोगों को कानूनी सहायता एवं विवाद को रोकने के लिए समझौता का भी लाभ मिल सकता है। उन्होंने कहा कि व्यवसायिक विवाद में केस मुकदमे उलझने से समय और धन दोनों की हानि होती है। ऐसी स्थिति में लोक अदालत का सहारा जरूरी है। उन्होंने ऐसे विवादों के निबटारे में प्राधिकार की मदद लेने की सलाह दी। चैंबर ऑफ कॉमर्स के अध्यक्ष कैलाश पोद्धार ने व्यवसायियों के समस्या पर विस्तार से अपनी बात रखी। कार्यक्रम का समापन पारा लिगल स्वयंसेवक कौशलेन्द्र कुमार ने धन्यवाद ज्ञापन के साथ किया। इस अवसर पर प्राधिकार के कर्मी मनोज दास सहित कई अन्य कर्मी भी उपस्थित थे।

खबरें और भी हैं...