कुरीतियों के खिलाफ बैठक:शराब पीने और बेचने वालों को महिलाएं करेंगी दंडित

जहानाबाद9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

प्रखंड स्थित बेलावं गांव में ग्रामीणों ने शराब एवं अन्य कुरीतियों के खिलाफ बैठक कर निर्णय लिया कि पंचायत के किसी भी जगह पर शराबबंदी को प्रभावी रूप से लागू किया जाएगा। शराब एवं अन्य कुरीतियों के खिलाफ गांव के महादेव स्थान पर महिला एवं पुरुष एकत्रित होकर गलत व्यवस्था के खिलाफ कड़ा संदेश दिया है।

स्थानीय गांव की महिलाएं एवं सामाजिक कार्यकर्ता एकत्र होकर इस महा अभियान को चलाने का फैसला लिया है। ग्राम सभा में एक कमेटी गठित कर सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया कि वर्तमान एवं भविष्य में शराबबंदी को पूरे पंचायत में प्रभावी ढंग से लागू करने के लिए यह कमेटी कटिबद्ध है।

कमेटी में सामाजिक तौर पर शराब के अलावा अन्य बुराइयों पर रोक लगाने के लिए एक प्रस्ताव पारित किया गया है। कमेटी द्वारा पारित अध्यादेश के अनुसार पूरे पंचायत में जो भी व्यक्ति शराब बिक्री एवं सेवन करते हैं उन पर कार्रवाई करने का अधिकार दिया गया है। उपस्थित लोगों के सम्मुख बताया गया कि पंचायत के किसी भी हिस्से में जो भी लोग इस धंधे में लिप्त होंगे।

चाहे वह कितने भी रसूख वाला आदमी हैं। उन्हें सामाजिक दंड के अलावे कानूनी प्रक्रिया से गुजरना होगा। बेलावं सोन तटीय इलाके का घनी आबादी वाला गांव है।सुदूरवर्ती क्षेत्र होने के कारण कानून व्यवस्था को लागू करने में पुलिस को मशक्कत करनी पड़ती थी। यही कारण था कि गांव के समाजसेवी एवं महिलाओं ने शराब के खिलाफ मोर्चा खोलकर सामाजिक बुराइयों को तोड़ने के लिए संकल्प लिया है।

मौके पर वक्ताओं ने कहा कि शराब एक सामाजिक बुराई है। इसका सेवन करने वाले कितने परिवार अपने खून पसीने की कमाई को शराब में उड़ा देते हैं। परिणाम बाल बच्चों एवं समाज पर पड़ता है। इसलिए अवैध कारोबार के खिलाफ महिला मोर्चा के द्वारा धावा बोला जाएगा।

शराब की बिक्री एवं शराबी के खिलाफ दीर्घकालिक मुहिम शुरू किया गया है। बैठक में निर्णय लिया गया है कि यह अभियान पहले अपने घर से शुरू किया जाएगा। इसकी जिम्मेवारी महिलाओं को दी गयी है।

खबरें और भी हैं...