चेतावनी / काराकाट में फार्मासिस्ट और एएनएम ने दी पदों से इस्तीफा देने की धमकी, भेदभाव का आरोप

X

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 05:00 AM IST

काराकाट. राज्य सरकार व विभागीय मंत्रालय पर मानदेय विसंगति से खफा स्थानीय सीएचसी से जुड़े फार्मासिस्ट व एएनएम कोरोना महामारी से निपटने के बाद अपने पदों से सामूहिक इस्तीफा भी दे सकते हैं। उक्त पदों पर कार्यरत लोगों ने एक प्रेस विज्ञप्ति जारी कर राज्य सरकार व विभागीय मंत्रालय पर वेतन विसंगति के साथ भेदभाव करने का आरोप लगाते हुए कार्य का बहिष्कार कर आंदोलन की धमकी दिया है।

फार्मासिस्ट श्याम ब्रह्मचारी ,राजीव रंजन, अविनाश कुमार,अखिलेश कुमार व अजित पाण्डेय एएनएम निशा कुमारी, बीना रानी, पूनम, रेणु व उर्मिला कुमारी सहित कईयों ने बताया कि यह समस्या राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम  में कार्यरत सभी फार्मासिस्ट व एएनएम की है। इनका आरोप है कि सरकार मानदेय में भेदभाव कर रही है। आरबीएसके में चिकित्सकों का मानदेय 20 हजार से बढ़ाकर 44 हजार रुपये कर दी गई , लेकिन  फार्मासिस्ट व एएनएम के मानदेय में कोई वृद्धि नहीं किया जा सका।

जबकि 2015 में एक ही विज्ञापन संख्या के तहत तीनों पद की परीक्षाएं  ली गई थी । कोरोना महामारी के खिलाफ भी हम सरकार के साथ अगली पंक्ति में कदम से कदम मिला कर पंचायत स्तर तक पूरी ईमानदारी से कार्य कर रहे हैं। बावजूद भी सरकार की उपेक्षाकृत रवैया से काफी ठेस पहुंचा है। विज्ञप्ति में स्पष्ट रूप से कहा गया है कि इस महामारी से निकलने के बाद सरकार या तो मानदेय विसंगति दूर करे या फिर इस्तीफा ले ले।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना