सप्तशती पाठ का हुआ आयोजन:केसठ में प्रथम नवरात्रि के पहले दिन मां शैलपुत्री की श्रद्धालुओं ने की पूजा

केसठ18 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

माताओं का आगमन होते हैं क्षेत्र में भक्ति की बाजार लग गई है। इससे क्षेत्र में पूरा वातावरण भक्तिमय हो गया है। प्रथम नवरात्रि के दिन गुरुवार को क्षेत्र के विभिन्न मां काली मंदिरों में पूजा अर्चना करने के लिए श्रद्धालु महिला पुरुष भक्तों की भीड़ उमड़ पड़ी। लोग बारी बारी से मां का दर्शन व विभिन्न व्यंजनों के साथ विधिवत रूप से पूजा अर्चना किए। इस अवसर पर काली मंदिरों, कयी घरों एवं पंडालों में सुख, शांति, संपदा, यश और कीर्ति आदि प्रदान के लिए दुर्गा सप्तशती पाठ का भी आयोजन किया गया है।

इसके प्रति लोगों में काफी उत्साह देखा जा रहा है। तथा पूरा वातावरण भक्तिमय हो गया है। इस अवसर पर प्रति वर्ष की भाति इस वर्ष भी रामपुर गांव स्थित मां काली मंदिर में समस्त ग्रामीणों के सहयोग से 9 दिनों के लिए दुर्गा सप्तशती पाठ का शुभारंभ किया गया। जो पाठ वाचन का कार्य काेरान सराय के आचार्य पंडित धनु द्वारा किया जा रहा है। वही नौवें दिन पाठ समापन के बाद विधिवत रूप से वैदिक मंत्रोच्चारण के साथ पूजन एवं ज्यादा मात्रा में घी का हवन किया जाता है।

प्रथम दिन गुरुवार को माता शैलपुत्री का पूजा अर्चना किया गया। उक्त अवसर पर पूजा अर्चना करने के लिए मंदिर में श्रद्धालु भक्तों का भीड़ देखी गई। वही नवरात्र को लेकर युवतियों मैं और अधिक उत्साह देखा जा रहा है। वहीं आज दूसरे दिन माता ब्रह्मचारिणी का, तीसरे दिन माता चंद्रघंटा का, चौथे दिन माता कुष्मांडा का, पांचवे दिन स्कंदमाता का, छठे दिन माता कात्यायनी का, सातवें दिन माता कालरात्रि का, आठवें दिन महागौरी माता का तथा नाैवें दिन माता सिद्धिदात्री का पूजा अर्चना किया जाता है।

खबरें और भी हैं...