पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

निर्वाचन आयोग:राज्य निर्वाचन आयोग ने अनियमितता में कोचस के ईओ से स्पष्टीकरण मांगा

कोचसएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • विश्वास प्रस्ताव पर मनमाने तरीके से मुहर लगा देने का मामला भारी पड़ा

कोचस नगर पंंचायत के ईओ को उप मुख्य पार्षद रूबी देवी के खिलाफ लाए गए विश्वास प्रस्ताव पर मनमाने तरीके से मुहर लगा देने का मामला भारी पड़ गया है। जिनके ऊपर राज्य निर्वाचन आयोग ने स्पष्टीकरण के साथ प्रपत्र क गठन की अनुशंसा की है। जिसमें आयोग के अधिकारी योगेंद्र राम ने जिलाधिकारी रोहतास को एक पत्र जारी करते हुए कोचस नप के ईओ के ऊपर नगर निगम 2007 की धारा 377 (डी)(11) का उलंघन करने का आरोप लगाया है। जिसमें स्पष्ट बताया गया है कि निकाय के किसी भी प्रतिनिधी के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव या उससे संबंधित कोई कार्रवाई की जानकारी उसे विधि सम्मत तरीके से दी जानी है।

जिसका पालन रूबी देवी के साथ कतई नहीं हुआ। साथ ही अधिनियम 2007, 49 का भी पालन नहीं हुआ। जिसमें अविश्वास प्रस्ताव के कारणों का स्पष्ट उल्लेख होना चाहिए। योगदें राम ने जिला निर्वाचन पदाधिकारी सह रोहतास डीएम को पत्र जारी करते हुए कोचस नप ईओ के खिलाफ कार्रवाई की अनुशंसा की है। साथ में यह भी कहा है कि उनसे स्पष्टीकरण लेकर आयोग को सूचित किया जाए। ताकि मामले में प्रपत्र क गठन करने के मार्ग प्रशस्त हो सके।

कोचस नप इओ ने अपने पत्रांक 393/2021 और पत्रांक 443/2021 माध्यम से राज्य निर्वाचन आयोग को कोचस नप के उप पार्षद प्रमुख रूबी देवी के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाए जाने की सूचना देते हुए अग्रेतर कार्रवाई के लिए दिशा निर्देश मांगा था। जिसके खिलाफ रूबी देवी ने आयोग में आवेदन देकर कोचस नप के ईओ के खिलाफ कई प्रमाण पेश करते हुए इस अविश्वास प्रस्ताव में उनके व्यक्तिगत रूप से शामिल होने सहित दुर्भावना से प्रेरित होकर कार्य करने का आरोप लगाया था। जिसमें कई धाराओं और अधिनियमों का हवाला देते हुए मामले की जांच करने की अपील की गई थी। उसी अपील के आलोक में राज्य निर्वाचन आयोग ने यह जांच किया। जिसमें कोचस नप ईओ दोषी पाए गए।

खबरें और भी हैं...