पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

पहल:सीएस ने महनार सीएचसी में स्वास्थ्य सेवाएं कराईं बहाल

महनारएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र महनार के डॉक्टरों और स्वास्थ्य कर्मियों ने सिविल सर्जन और पुलिस एवं प्रशासनिक अधिकारियों, स्थानीय जनप्रतिनिधियों एवं नागरिक संघर्ष मोर्चा के साथ चिकित्सक संगठन के प्रतिनिधि के साथ वार्ता के बाद कार्य बहिष्कार का निर्णय वापस ले लिया है। जिसके बाद शुक्रवार की दोपहर से सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र महनार में सभी प्रकार की स्वास्थ्य सेवाएं सुचारू ढंग से पुनः प्रारंभ हो गई। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र महनार में बुधवार को महनार प्रखंड के गोरीगामा पंचायत निवासी राजेश कुमार सिंह उर्फ खन्ना सिंह के द्वारा चिकित्सक एवं कर्मियों के साथ की गई मारपीट एवं दुर्व्यवहार की घटना के बाद उनकी गिरफ्तारी की मांग को लेकर डॉक्टरों एवं स्वास्थ्य कर्मियों ने गुरुवार से कोविड-19 टीकाकरण, जांच सहित सभी प्रकार के स्वास्थ्य सेवाओं का अनिश्चितकालीन बहिष्कार शुरू कर दिया था।

इसको लेकर महनार के अपर एसडीओ राकेश रंजन एवं महनार थाना अध्यक्ष के समझाने का भी कोई असर चिकित्सक एवं कर्मियों पर नहीं हुआ था। जिसके बाद शुक्रवार को जिले के सिविल सर्जन डॉ इंद्रदेव रंजन सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र महनार पहुंचे और उन्होंने महनार के एसडीपीओ एसके पंजियार, अपर एसडीओ राकेश रंजन, सीओ रमेश प्रसाद सिंह, चिकित्सक संगठन के प्रतिनिधि ठाकुर मुकेश सिंह चौहान एवं स्थानीय जनप्रतिनिधियों ने डॉक्टरों व कर्मियों के साथ वार्ता की।

सीएस ने 3 दिन में गिरफ्तार करने का किया अनुरोध

महनार अस्पताल में हड़ताली चिकित्सक व स्वास्थ्यकर्मियों से समझौता वार्ता के उपरांत सिविल सर्जन ने एसपी को पत्र लिखकर नामजद आरोपी को तीन दिनों के अंदर गिरफ्तार करने का अनुरोध किया है। शुक्रवार को पुलिस अधीक्षक मनीष कुमार को सिविल सर्जन डॉ. इंद्रदेव रंजन ने पत्र लिखकर बताया है कि चिकित्सक व स्वास्थ्यकर्मियों के साथ हुई बैठक में डाक्टर एवं स्टाफ के साथ दुर्व्यवहार के आरोपी व्यक्ति को शीघ्र गिरफ्तार करने का आश्वासन दिया गया है जिसके बाद उनलोगों ने तत्काल तीन दिनों के लिए कार्य बहिष्कार को स्थगित किया है। महनार अस्पताल में स्थायी रूप से सशस्त्र बल की तैनाती के लिए भी अनुरोध किया है।

खबरें और भी हैं...