इंजन बंद होने से डूबी नाव:पटना में बालू लदी नाव जेपी सेतु के पिलर से टकराई, पांच लापता

मनेर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

बिहटा के साेन नदी से बालू लेकर हाजीपुर की ओर जा रही नाव रविवार की सुबह जेपी सेतु के पिलर नंबर 10 से टकरा गई। नाव बंद हाेने से यह हादसा हुअा। पीलर से टकराने के बाद नाव डूब गई। इस नाव में कुल 13 बालू मजदूर सवार थे। इनमें 8 लाेगाें ने तैरकर और दूसरे नाविक द्वारा बचा लिए गए जबकि पांच गंगा में समा गए। तैरकर निकलने वाले और लापता सभी मनेर से राजद विधायक भाई वीरेंद्र के गांव महिनांवां बगीचा गांव के रहने वाले हैं। नाव इसी गांव के अरुण राय की थी।

नाविक तैरकर निकल गए। सूचना मिलने के बाद लापता मजूदराें के परिजन के साथ ही दीघा थाना की पुलिस के अलावा एसडीआरफ की टीम दीघा स्थित जनार्दन घाट पहुंची। एसडीआरएफ के एसआई गाेताखाेर अशाेक कुमार समेत 10 जवानाें की टीम ने करीब असठ घंटे तक पिलर नंबर 10 और इसके आसपास दाे बाेट से ऑपरेशन चलाया पर लापता में से किसी काे देर शाम तक नहीं निकाला जा सका।

हादसे के बाद जनार्दन घाट से लेकर महिनांवां बगीचा गांव में काेहराम मच गया। घाट पर पहुंचे परिजन दहाड़ मारकर राेने लगे। अशाेक ने बताया कि साेमवार काे फिर बार ऑपरेशन चलाया जाएगा। इधर, मनेर सीओ ने बताया कि महिनांवां बगीचा के 5 लोग दीघा के समीप नाव टकराने से गंगा में लापता हैं।

8 घंटे तक एसडीआरएफ टीम ने चलाया ऑपरेशन

जाे पांच लाेग इस हादसे में लापता हैं उनमें भुनेशवर प्रसाद का बेटा भगवान राय, रामबालक राय का बेटा भूती उर्फ भूटी राय, कैलाश राय, मुन्नी राय का बेटा पप्पू राय और भंगी राय का बेटा धमेंद्र कुमार शामिल हैं। भूती राय, कैलाश राय का सगा भतीजा है। एक परिवार में दाे लाेगाें के लापता हाेने पर पूरा परिवार सदमे में हैं। हादसे में घर का इकलाैता चिराग भूती राय भी लापता है। वह रामबालक राय का इकलाैता बेटा है। उसकी हाल ही में शादी हुई है। भूती के लापता हाेने की सूचना के बाद उसकी पत्नी राेने लगी।

उधर, औरंगाबाद में भी नदी में डूबने से पांच की मौत

रविवार की दोपहर नदी में नहाने के दौरान चार किशोरी डूब गई। बचाने के दौरान एक अधेड़ भी डूब गया। जिसके कारण सभी की मौत हो गई। तीन शव को बरामद कर लिया गया है। जबकि दो शव अभी भी लापता है। जिसकी तलाश की जा रही है। घटना उपहारा थाना क्षेत्र के हमीदनगर गांव समीप पुनपुन नदी कुशंभरा घाट की है।

मृतकों में उपहारा थाना क्षेत्र के हमीदनगर गांव शंकर ठाकुर, विजय भगत के 17 वर्षीय बेटी काजल कुमारी, बखौरी विश्वकर्मा के 16 वर्षीय बेटी निधि, गनौरी भगत के 15 वर्षीय बेटी मनीषा, हरिद्वार भगत के 12 वर्षीय बेटी छोटी उर्फ सुनैना शामिल है। उधर, मुख्यमंत्री ने घटना पर दुख जताया है और 4-4 लाख सहायता राशि देने की घोषणा की है।

खबरें और भी हैं...