पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

प्रदर्शन:रेलवे बोर्ड के आदेश के विरोध में 15 को मोमबत्ती जला एसएम करेंगे प्रदर्शन

मोहनिया8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • आदेश रद्द नहीं हुआ तो 20 अक्टूबर से स्टेशन मास्टर काला सप्ताह मनाएंगे

रेलवे बोर्ड के आदेश के विरोध में आगामी 15 अक्टूबर को स्टेशन मास्टर मोमबत्ती जलाकर विरोध प्रदर्शन करेंगे। रेलवे बोर्ड पत्र संख्या 83/2020 दिनांक 29 सितंबर 2020 नाइट ड्यूटी एलाउंस सीलिंग लिमिट को 43600 नाइट ड्यूटी की गणना करने के लिए अब बेसिक पे 43600 के आधार पर ही की जाएगी, जिसके विरोध में स्टेशन मास्टर 15 अक्टूबर को रात्रि कालीन शिफ्ट मे सभी स्टेशनों पर ऑन ड्यूटी स्टेशन मास्टर स्टेशन की समस्त लाइट बंद करके मोमबत्ती जलाकर के इस आदेश का विरोध करेंगे।

डीडीयू रेल मंडल अध्यक्ष सरोज रंजन सिंह ने बताया कि इसके बाद रेल प्रशासन के द्वारा अगर इस आदेश को रद्द नहीं किया गया तो 20 अक्टूबर से समस्त भारतवर्ष के स्टेशन मास्टर काला सप्ताह मनाएंगे। 20 अक्टूबर से देश के सभी स्टेशन मास्टर ट्रेन संचालन को सुचारू रूप से रखते हुए काला रिबन लगाकर आदेश का विरोध करेंगे। इसके बाद भी अगर रेल प्रशासन ने इस आदेश को रद्द नहीं किया गया तो 31 अक्टूबर को देश के समस्त ऑन ड्यूटी व ऑफ ड्यूटी स्टेशन मास्टर 12 घंटे की भूख हड़ताल पर जाएंगे।

8 मार्च 2018 को जारी किया गया था पत्र
रेल विभाग द्वारा जो आदेश अभी हाल ही में रेलवे बोर्ड के द्वारा जारी किया गया है इससे पूर्व भी नाइट ड्यूटी का पत्र रेलवे बोर्ड के द्वारा ही पत्र संख्या 36/2018 दिनांक 8 मार्च 2018 को जारी किया गया था। जिसमें किसी भी प्रकार का विचाराधीन मामला नहीं बताया है, जबकि जो वर्तमान में पत्र जारी किया गया है। उसकी लागू होने की तिथि एक जुलाई 2017 की दी गई है। पत्र 2018 में लागू होने के बाद रेलवे बोर्ड ने 1 जुलाई 2017 से नाइट ड्यूटी का एरियर भी दिया है।

खबरें और भी हैं...