पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

आक्रोश:फाटाबिगहा में कोविड 19 की वैक्सीन लगवाने से महिला की मौत का आरोप लगाकर की सड़क जाम

नगरनौसा13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
नगरनौसा में सड़क जाम कर रहे ग्रामीण। - Dainik Bhaskar
नगरनौसा में सड़क जाम कर रहे ग्रामीण।

फाटा बिगहा गांव में सोमवार को कोरोनारोधी टीका लेने के बाद एक महिला की तबीयत बिगड़ गयी और इलाज के दौरान मौत हो गई। मृतक फाटा बिगहा गांव निवासी अनिल पासवान की 27 वर्षीय पत्नी बबीता देवी है। घटना के बाद ग्रामीणों ने कोरोनारोधी टीका लेने से महिला की मौत होने का आरोप लगाते हुए एनएच- 431 को प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के पास जाम कर दिया। मिली जानकारी के अनुसार सोमवार को उक्त महिला ने गांव में वैक्सीन लगवायी थी। परिजनों के मुताबिक टीका लगवाने के कुछ घंटे बाद से ही महिला की तबीयत बिगड़ने लगी। आननफानन में परिजनों द्वारा महिला को प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया गया। जहां इलाज के दौरान मौत हो गई। परिजनों ने बताया कि अस्पताल में रोगी का इलाज के लिए दौड़ते रहे लेकिन डॉक्टर द्वारा तत्काल इलाज नहीं किया। बीडीओ प्रेम राज, सीओ अरुण कुमार, थानाध्यक्ष नारदमुनि सिंह ने घटनास्थल पर पहुंच सड़क जाम कर ग्रामीणों को समझाने का प्रयास किया लेकिन ग्रामीण मुआवजा की मांग को लेकर अड़े रहे। 3 घंटे के बाद ग्रामीणों द्वारा सड़क जाम समाप्त किया गया। परिवारिक लाभ के तहत बीस हजार नगद एवं कबीर अंत्येष्टि के तहत तीन हजार रुपये परिजनों को उपलब्ध कराया गया है। थानाध्यक्ष ने बताया कि शव को पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेज दिया गया है।
वैक्सीन से नहीं हुई मौत
पीएचसी के डाॅ. सुधीर कुमार ने बताया कि महिला का इलाज किया गया है। परिजन पूर्व में महिला का कहीं अन्य स्थान पर इलाज करा रहे थे। जिसके कारण स्थिति गंभीर हो गयी। सोमवार की रात करीब तीन बजे परिजन महिला को हॉस्पिटल लेकर आये। उन्होंने कहा कि वैक्सीन लेने के कारण किसी की मौत नहीं हो सकती है। एक वॉयल में दस लोगों का वैक्सीनेशन किया जाता है। अगर दवा का रिएक्शन होता तो अन्य लोग भी बीमार होते।

खबरें और भी हैं...