• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Nalanda
  • After The Death Of 10 People In Nalanda, There Was Chaos, The Relatives Said – Poisonous Liquor Took Their Lives

किसी ने खोया जवान बेटा तो किसी का उजड़ा सुहाग:नालंदा में 13 लोगों की मौत के बाद मचा कोहराम, परिजन बोले- जहरीली शराब ने ली जान

नालंदा10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मृतक के रोते-बिलखते परिजन। - Dainik Bhaskar
मृतक के रोते-बिलखते परिजन।

नालंदा में शनिवार को संदिग्ध परिस्थितियों में 13 लोगों की मौत हो गई। सभी मृतक के परिजनों ने उनकी मौत का कारण शराब पीना बताया। सभी ने शुक्रवार की शाम जहरीली शराब पी थी। एक साथ इतनी मौत के बाद गांव में हड़कंप मच गया। सोहसराय में एक साथ तीन लोगों की अर्थी उठी। मृतक के परिजन छाती पीट-पीटकर रोते रहे। जहरीली शराब के कारण किसी के सिर से पिता का साया उठ गया तो कई के सुहाग उजड़ गए।

मौत बढ़ने पर पुलिस ने ढूढ़ा अन्य शराबियों को

बेटे की मौत से छाती पीट-पीटकर रोई मां

एक साथ इतनी मौत होने के बाद नालंदा के DM-SP मौके पर पहुंचे। उन्होंने मृतक मुन्ना मिस्त्री के घर जाकर उनके परिजनों से पूछताछ की। जहां मृतक की बेटी ज्योती देवी ने प्रशासन के सामने कहा, 'पुलिस-प्रशासन चाहे तो एक बूंद शराब नहीं बिकेगी। फिर भी शराब बिकती है। जिसके सेवन से उसके पति की जान चली गई।'

वहीं, मृतक सुनील की मां पुनिया देवी अपने जवान बेटे को खोने के बाद छाती पीटकर सदर अस्पताल में रो रही थी। उन्होंने कहा, 'दिव्यांग बेटे ने शुक्रवार को खाना खाया था और शराब पी थी। इसके बाद उसकी तबीयत बिगड़ गई और सुबह दम तोड़ दिया।'

रोते-बिलखते परिजन।
रोते-बिलखते परिजन।

बार-बार बेटे को शराब पीने से मना करती थी मां

अर्जुन पंडित की छह बेटियां हैं और एकमात्र दिव्यांग बेटा। उनकी मौत से परिवार का भविष्य अंधकारमय हो गया। अर्जुन की पत्नी मनती देवी रो-रोकर एक ही बात कह रही थी कि अब बेटियों की शादी कौन करेगा। वह बार-बार बेटे को शराब पीने से मना करती थी।

इधर, मोगल कुंआ के बॉलीपर मोहल्ला निवासी राजेश भी काफी गरीब था। वह पेंटिंग करता था। उसकी पत्नी दूसरे के घरों में काम करती है। उसके दो बेटों व दो बेटियों की परवरिश कैसे होगी, यही चिंता उसकी पत्नी को खाये जा रही है।

समय पर अगर मां को शराब पीने की बात बता देता बेटा तो नहीं जाती जान
इधर, रविवार को मृत प्रहलाद कुमार की मां मुंद्रिका देवी ने बताया कि उनका बेटा शराब पी कर घर आया था। जब अपने बेटे को नशे में धुत होकर टगते हुए देखा तो मुंद्रिका देवी ने पूछा कि-आई बेटा सगरो गुदाल हो रहलो ह दारु पीनी ह इसपर प्रह्लाद ने कहा कि नए माय हम दारु नई पीलीयो ह। बेटे को खोने के गम से मां का रो-रोकर बुरा हाल हो रहा है। 4 दिन पहले ही प्रहलाद प्ररदेश से लौटा था। और अब इस दुनिया को छोड़कर अलविदा कह गया।

तीन बच्चों के सिर से उठा पिता का साया
वहीं, मृते सिंटू कुमार की के तीन छोटे-छोटे बच्चे हैं। मौत के बाद पत्नी और मां दोनों का रो-रोकर बुरा हाल हो रहा है। बेटे की याद में मां बदहवास हो बेहोश हो जा रही थी। तो वहीं पत्नी ममता देवी की चिंता इसलिए भी बढ़ गई है कि अब जो छोटे-छोटे तीन बच्चे हैं। उसका पालन पोषण कैसे होगा। फर्नीचर दुकान में काम कर चिंटू अपने बच्चें पत्नी के साथ माता-पिता का भी ख्याल रख रहा था।

इधर, मृतक शंकर कुमार जो मेले में जो झूला का लेबर (कारीगर) के तौर पर काम कर अपना परिवार का भरण पोषण कर रहा था। शंकर अपने पीछे 10 साल और 5 साल के पुत्र को छोड़ गए है।

अंतिम संस्कार में जुटे ग्रामीण।
अंतिम संस्कार में जुटे ग्रामीण।

सर्च ऑपरेशन चलाकर शराब किया जब्त

घटनास्थल पर DM-SP के नेतृत्व में कांबिंग ऑपरेशन चलाया गया। कॉम्बिंग आपरेशन के दौरान दो स्थलों पर विभिन्न प्रकार के शराब, पैकिंग मटेरियल एवं पैकेजिंग उपकरण जब्त किए गए। एक जगह 750 ml की 5 बोतल विदेशी शराब एवं एक बोरा टेट्रा पैक पैकेजिंग मटेरियल बरामद किया गया। दूसरी जगह से चुलाई देशी शराब 4 लीटर, 250 एम एल का 25 पाउच देशी शराब, झारखंड मार्क का 200 एम एल का 22 पाउच एवं 400 एम एल का 4 पाउच देशी शराब, 750 एम एल की 87 बोतल विदेशी शराब और एक छोटा पैकेजिंग मशीन अब तक जब्त किया गया है।

इनकी हुई मौत

शनिवार को दस लोगों की मौत हुई। मृतकों में सोहसराय थाना क्षेत्र के छोटी पहाड़ी निवासी भागो मिस्त्री (55), मन्ना मिस्त्री (55), सुनील कुमार (24), धर्मेंद्र उर्फ नागेश्वर (50), अर्जुन पंडित (51), कालीचरण (50), राजेश कुमार (42), रामपाल शर्मा और मानपुर थाना क्षेत्र के प्रभु विगहा गांव के रामरूप चौहान (45) व शिवजी चौहान (45) शामिल है। वहीं, रविवार को 3 लोगों ने दम तोड़ दिया। इनमें प्रहलाद कुमार (40), सिंटू कुमार (35) एवं बालेश्वर मिस्त्री का पुत्र (35) शंकर मिस्त्री हैं, तीनों छोटी पहाड़ी निवासी थे। वहीं, सोहसराय थाना क्षेत्र के छोटी पहाड़ी निवासी ऋषि कुमार की स्थिति गंभीर बनी हुई है।

(रिपोर्ट- सूरज कुमार)