नालंदा में पुलिस पर आक्रोशित लोगों ने की रोड़ेबाजी:लोगों का आरोप- पुलिस के खदेड़ने पर तालाब में कूदे 3 युवक, एक की गई जान

नालंदा10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
शव मिलने के बाद हंगामा करते आक्रोशित लोग। - Dainik Bhaskar
शव मिलने के बाद हंगामा करते आक्रोशित लोग।

नालंदा में गुरुवार को तालाब से युवक की लाश मिलने पर लोगों का आक्रोश फूट पड़ा। सैकड़ों आक्रोशित ने गगनदीवान के समीप सड़क जाम कर दिया। हंगामा की सूचना पाकर पहुंची पुलिस ने गुस्सायी भीड़ ने रोड़ेबाजी कर दी। जिससे भगदड़ मच गई। रोड़ेबाजी में तीन पुलिस कर्मी जख्मी हो गए। जिन्हें इलाज के लिए सदर अस्पताल लाया गया। मामला जिले के लहेरी थाना अंतर्गत खानकाह मोहल्ला का है।

मृतक की पहचान मो. कैसर का 25 वर्षीय पुत्र मो. लाला है। परिजन व मोहल्लेवासी आरोप लगा रहे हैं कि रविवार की रात मोहल्ला में लहेरी थाना पुलिस आई थी। पुलिस को देख तीन युवक तालाब में कूद गए। इसके बाद लाला नहीं मिला। उसकी तलाश में प्रशासन ने सहयोग नहीं किया। गुस्साई भीड़ थानेदार को बुलाने की मांग कर रहे थे। हंगामा बढ़ने की सूचना पाकर एसडीओ कुमार अनुराग, सदर डीएसपी डॉ. मो. शिब्ली नोमानी, राजगीर डीएसपी प्रदीप कुमार, दीपनगर थानाध्यक्ष मो. मुश्ताक अहमद, राजगीर थानाध्यक्ष दीपक कुमार, नालंदा थानाध्यक्ष दिनेश कुमार सिंह दलबल के साथ आ गए। इलाके को पुलिस छावनी में तब्दील कर दिया गया है। दो घंटे की मशक्कत के बाद भी हंगामा शांत नहीं हो सका है।

पुलिस के खदेड़ने पर कूदा तालाब में
मृतक के रिश्तेदार मो. राजा ने बताया कि- 'रात लहेरी थानाध्यक्ष खानकाह आए थे। पुलिस को देख लाला समेत तीन युवक तालाब में कूद गया। दो युवक तो किसी तरह निकल गया। मगर लाला लापता हो गया। उसकी तलाश में पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों ने सहयोग नहीं किया। पांचवे दिन उसकी लाश कीचड़युक्त तालाब से मिली।'

सैकड़ों आक्रोशित महिला-पुरुष उतरें सड़क पर
युवक की लाश मिलने के बाद परिजन व मोहल्ले वासियों का आक्रोश फूट पड़ा। सैकड़ों महिला-पुरुष सड़क पर उतरकर हंगामा करने लगें। हंगामा होने से आसपास के दुकानदार अपनी-अपनी दुकानें बंद कर दी। सूचना पाकर पहुंची पुलिस पर आक्रोशितों ने रोड़ेबाजी कर दी। जिससे हवलदार मो. मकसूद खान, राजाराम मेहता और रामधनी साह जख्मी हो गए।

पुलिस छावनी बना इलाका
हंगामा बढ़ने की सूचना के बाद पुलिस व प्रशासनिक अधिकारी मौके पर आ गए। इलाके को पुलिस छावनी में तब्दील कर दिया गया। पदाधिकारी आक्रोशितों को समझाने में जुटे हैं। करीब दो घंटे बाद भी मार्ग से जाम नहीं हटाया जा सका। बुधवार की रात भी आक्रोशितों ने प्रशासन पर लापता की तलाश में लापरवाही का आरोप लगा सड़क जामकर आगजनी की थी।

थानेदार को बुलाने की मांग
आक्रोशित लोग थानेदार को मौके पर बुलाने की मांग कर रहे हैं। परिवार ने बताया कि पुलिस के खदेड़ने से घटना हुई। तालाब में कूदने के बाद उसकी तुरन्त तलाश की जाती तो शायद जान नहीं जाती।

दोषियों पर होगी कार्रवाई
सदर डीएसपी डॉ. मो. शिब्ली नोमानी ने बताया कि मृतक पर कई हत्या का केस दर्ज था। उपद्रव में पुलिसकर्मी समेत कई समाजसेवी भी जख्मी हुए हैं। उपद्रवियों की पहचान कर पुलिस कार्रवाई करेगी।

खबरें और भी हैं...