पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

नालंदा में गुस्साए परिजनों ने एंबुलेंस तोड़ा:मरीज की मौत के बाद किया हंगामा, अपना गुस्सा एंबुलेंस पर निकाला

नालंदाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मरीज के परिजनों ने तोड़ा एंबुलेंस। - Dainik Bhaskar
मरीज के परिजनों ने तोड़ा एंबुलेंस।

नालंदा के दीपनगर थाना क्षेत्र के बीड़ी श्रमिक अस्पताल में बनाए गए आइसोलेशन सेंटर में एक संदिग्ध मरीज की मौत के बाद परिजनों ने हंगामा शुरू कर दिया। इस दौरान मरीज के परिजनों ने एंबुलेंस में तोड़फोड़ करते हुए उसे क्षतिग्रस्त कर दिया। मृतका जहानाबाद जिले के वीरा गांव निवासी जयप्रकाश पासवान की पत्नी उषा देवी है। वर्तमान में बिहारशरीफ में रह रही थी। मृतका के परिजनों ने बताया कि शुक्रवार को अचानक उनका ऑक्सीजन लेवल कम होने पर उसकी तबियत खराब हो गई।

इलाज के लिए पहले महिला को निजी क्लीनिक ले जाया गया, जहां से उन्हें बीड़ी श्रमिक अस्पताल रेफर कर दिया गया। बीड़ी श्रमिक अस्पताल पहुंचते ही उसकी मौत हो गई। इसी से परिजन आक्रोशित हो गए और हंगामा करते हुए तोड़फोड़ शुरू कर दिए। घटना की जानकारी मिलते ही बिहारशरीफ प्रखंड के प्रखंड विकास पदाधिकारी राजीव रंजन कुमार, अंचलाधिकारी सुनील कुमार सिंह, दीपनगर थाना अध्यक्ष मोहम्मद मुश्ताक अहमद, बीड़ी श्रमिक अस्पताल पहुंचे और परिजनों से बातचीत कर उन्हें शांत कराया।

परिजनों का क्या है आरोप
परिजनों का आरोप है कि वह अपने मरीज को इधर से उधर लेकर जाते रहे, लेकिन किसी ने नब्ज तक नहीं टटोला। इलाज में देरी होने के कारण इनकी मौत हो गई। थानाध्यक्ष मोहम्मद मुश्ताक अहमद ने बताया कि एंबुलेंस चालक द्वारा लिखित शिकायत मिलने के बाद कार्यवाही की जाएगी। फिलहाल किसी ने इसकी शिकायत नहीं की है ।

खबरें और भी हैं...