रफ्तार ने ली कृषि विभाग के 2 कर्मियों की जान:नालंदा में बाइक से कृषि कार्यालय जा रहे थे दोनों, तभी हुआ हादसा; विरोध में परिजनों ने अस्पताल में की तोड़फोड़, होमगार्ड को भी पीटा

नालंदाएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
घटना के बाद अस्पताल पहुंचे परिजन। - Dainik Bhaskar
घटना के बाद अस्पताल पहुंचे परिजन।

नालंदा के तेज रफ्तार वाहन की चपेट में आने से कृषि विभाग के दो कर्मियों की मौत हो गई। घटना पावापुरी ओपी क्षेत्र के करमपुर गांव के पास की है। सोमवार दोपहर दोनों युवक बाइक से कृषि कार्यालय नवादा जा रहे थे, तभी तेज रफ्तार वाहन ने बाइक में टक्कर मार दी। हादसा इतना भीषण था कि एक की मौत मौके पर ही हो गई जबकि दूसरे ने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया। घटना के बाद इलाके में हड़कंप मच गया। आसपास के लोगों की भीड़ लग गई।

घटना से आक्रोशित परिजन ने अस्पताल में बवाल करने लगे। उनका कहना है कि सूचना देने के करीब एक घंटे तक पुलिस नहीं आई। गुस्साए लोग अस्पताल परिसर में तोड़फोड़ और पथराव करने लगे। इसी दौरान पोस्टमार्टम कक्ष में तैनात होमगार्ड के जवान ने उन्हें समझाने की कोशिश को तो उसे भी जमकर पीट दिया।

इधर, सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और लोगों को समझा-बुझाकर शांत करवाया। पुलिस के अनुसार वाहन और उसके चालक की तलाश की जा रही है। पीड़ित परिवारों को उचित मुआवजे का आश्वासन दिया गया है। दोनों के शवों का पोस्टमार्टम करवाया जा रहा है।

मृतकों की पहचान बिहार शरीफ के देवीसराय निवासी सुरेश मिस्त्री के पुत्र विपिन बिहारी और जलालपुर में विशेश्वर ठाकुर के पुत्र जितेंद्र कुमार के रूप में हुई है। दोनों नवादा कृषि कार्यालय में डाटा इंट्री ऑपरेटर थे। परिजनों का कहना है कि दोनों रोजाना की तरह सोमवार को भी बाइक से कार्यालय जा रहे थे, तभी हादसा हुआ। स्थानीय लोगों का कहना है कि पुलिस पीड़ित परिवारों को उचित मुआवजा जल्द से जल्द प्रदान करे।

खबरें और भी हैं...