शराब पीने से 3 और युवकों की मौत!:नालंदा में मरने वालों की संख्या 13 हुई, चचेरे भाइयों की चली गई आंखों की रोशनी, सोहसराय थानेदार सस्पेंड

नालंदा8 महीने पहले
घटना के बाद परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है।

नालंदा में संदिग्ध परिस्थिति में मरने वालों की संख्या बढ़कर 13 हो गई है। परिजन शराब पीने से मौत की बात कह रहे हैं। घटना जिले के सोहसराय थाना क्षेत्र के छोटी पहाड़ी और पहाड़ तल्ली मोहल्ला की है। IG ने सोहसराय थाना अध्यक्ष सुरेश प्रसाद को सस्पेंड कर दिया है। लोगों का कहना है कि जहरीली शराब पीने से मौत का सिलसिला अब तक जारी है। मृतक की पहचान छोटी पहाड़ी मोहल्ला निवासी प्रह्लाद कुमार (40) सिंटू कुमार (35) एवं बालेश्वर मिस्त्री का पुत्र (35) शंकर मिस्त्री के रूप में हुई।

प्रहलाद की मां मुंद्रिका देवी ने बताया, 'बेटा शराब पीकर घर आया था। जब अपने बेटे को नशे में धुत होकर टगते देखा तो मैंने पूछा कि आई बेटा सगरो गुदाल हो रहलो ह दारु पीनी ह तो प्रह्लाद ने कहा कि नए माय हम दारु नई पीलीयो ह...।'

उन्होंने मोहल्ले की ही एक महिला पर शराब बेचने का आरोप लगाते हुए उस पर DM-SP से सख्त कार्रवाई करने की मांग की। मुंद्रिका ने कहा कि शराब ने हम लोगों की जिंदगी तबाह कर दी।

किसी ने खोया जवान बेटा तो किसी का उजड़ा सुहाग

रोते-बिलखते परिजन।
रोते-बिलखते परिजन।

इलाके में बनती है चुल्हाई शराब

परिजनों का कहना है कि जहरीली शराब पीने से ही मौत हुई है। इस इलाके में चुल्हाई शराब बनता है। अगर प्रशासन चाहे तो शराब क्या उसकी एक बूंद पानी मिलना तक मुमकिन नहीं होगा। उन्होंने कहा कि घर चलाने वाला अब इस दुनिया में नहीं रहा। अब उनकी जिंदगी कैसे गुजरेगी।

परिजन बोले- रात में शराब पीकर सोए थे, अचानक तबीयत बिगड़ी और जान चली गई

कल इनकी हुई थी मौत

शनिवार को मरने वालों में भागो मिस्त्री (55), मन्ना मिस्त्री (55), सुनील कुमार (24), धर्मेंद्र उर्फ नागेश्वर (50), अर्जुन पंडित (51), कालीचरण (50), राजेश कुमार (42), रामपाल शर्मा और मानपुर थाना क्षेत्र के प्रभु विगहा गांव के रामरूप चौहान (45) व शिवजी चौहान (45) शामिल थे। वहीं, सोहसराय थाना क्षेत्र के छोटी पहाड़ी निवासी ऋषि कुमार की स्थिति गंभीर बनी हुई है।

स्थानीय लोग इस इलाके में चुलाई शराब बनाने की बात बता रहे हैं।
स्थानीय लोग इस इलाके में चुलाई शराब बनाने की बात बता रहे हैं।

दो चचेरे भाइयों की चली गई आंखों की रोशनी

शराब पीने से करीब आधा दर्जन लोगों की हालत गंभीर बताई जा रही है। जिसमें छोटी पहाड़ी निवासी राजू चौहान और उसके चचेरे भाई ऋषि चौहान के आंखों की रोशनी चली गई। परिवार ने बताया कि दोनों को इलाज के लिए विम्स ले गए। जहां से रेफर कर दिया गया। इसके बाद सोहसराय के बाईपास स्थित निजी क्लिनिक में दोनों भर्ती कराया गया। क्लिनिक में इलाज के एवज में उनलोगों से मोटी रकम की मांग की गई है। जान बचाने के लिए वे लोग भूमि बेचकर इलाज कराने में जुटे हैं। दोनों युवक दूसरे प्रदेश में भट्‌ठा पर काम करता था। रात में शराब पीने के बाद उनकी हालत बिगड़ी।

उधर, छापेमारी में 750 एमएल की 5 बोतल विदेशी शराब, एक बोरा टेट्रापैक पैकेजिंग मटेरियल, चुलाई देसी शराब 4 लीटर, 250 एमएल का 25 पाउच देशी शराब, 200 एम एल का 22 पाउच एवं 400 एमएल का 4 पाउच देसी शराब, 750 एम एल की 87 बोतल शराब मिली।

गांव में पूछताछ करती पुलिस।
गांव में पूछताछ करती पुलिस।

विधायक बोले- गहन जांच हो

बिहारशरीफ के भाजपा विधायक डॉ. सुनील कुमार ने छोटी पहाड़ी में हुई संदिग्ध मौत पर दुख प्रकट किया है। उन्होंने कहा कि किस परिस्थिति में इतने लोगों की मौत हुई जिला प्रशासन गहन जांच करे। उन्होंने कहा कि जो भी इस मामले में दोषी है जिला प्रशासन गहन जांच कर अविलंब कार्रवाई करे।

महादलितों को शराब के मामले में फंसाती है पुलिस: अरवल विधायक

इधर, इस घटना की सूचना के बाद रविवार को अरवल के माले विधायक महानंद सिंह सदर अस्पताल पहुंचे। वहीं, जन अधिकार पार्टी (जाप) के सुप्रीमो पप्पू यादव ने मृतकों के परिजनों से मुलाकात की। महानंद सिंह ने कहा- 'शराबबंदी के नाम पर सिर्फ महादलित लोगों को परेशान किया जाता है। बड़ी-बड़ी लग्जरी गाड़ियों में शराब की खेप पकड़ी जाती है। बावजूद सरकार बड़े शराब माफियाओं पर कार्रवाई नहीं कर छोटे लोगों को पकड़कर जेल भेजने का काम करती है। मैं सरकार से मांग करता हूं कि जितने थानेदार हैं, डीएसपी है, एसपी हैं, सभी की संपत्ति की जांच की जाए। सभी लोगों ने अवैध रूप से बालू और शराब से अकूत संपत्ति अर्जित की है।'

जाप के सुप्रीमो पप्पू यादव ने मृतकों के परिजनों से मुलाकात की।
जाप के सुप्रीमो पप्पू यादव ने मृतकों के परिजनों से मुलाकात की।

आज मृतकों का आकड़ा छुपाया जा रहा, कल पोस्टमाॅर्टम रिपोर्ट बदल दिया जाएगा: पप्पू यादव

वहीं, पप्पू यादव ने कहा कि 'जिला प्रशासन मृतकों का आंकड़ा छुपाने में जुटी है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के गृह क्षेत्र नालंदा के हरनौत में शराब मिल रही है। शराब की होम डिलीवरी हो रही है और सीएम साहब शराबबंदी का ढिढोरा पीट रहे हैं। आज आंकड़ा छुपाया जा रहा है। कल पोस्टमाॅर्टम रिपोर्ट बदल दिया जाएगा। ताकि किसी भी मृत व्यक्ति में जहरीली शराब पीने की पुष्टि न हो सके। आज 6 लाख से अधिक बेकसूर लोग शराब मामले में जेल में बंद हैं।' इधर, पप्पू यादव ने मृतक के परिजनों को 10-10 हजार रुपए की आर्थिक मदद की और 10-10 हजार सभी के बैंक अकाउंट में डालने की बात कही।

5 लोग किए गए गिरफ्तार

इधर, जिला प्रशासन 11 लोगों की मौत की ही पुष्टि कर रहा है। DM शशांक शुभंकर ने बताया कि 'प्रथम दृष्टया ऐसा प्रतीत होता है कि इन लोगों ने शराब का सेवन किया था हालांकि कुछ लोगों के परिवार इस बात से इंकार कर रहे हैं। सोहसराय थाना में अलग-अलग मामले में कुल 6 FIR दर्ज कराई गई है।' वहीं, SP अशोक मिश्रा ने बताया कि तीनों अनुमंडल के DSP द्वारा पूरे पहाड़ी क्षेत्र में सघन छापेमारी की गई। जांच चल रही है। इस शराब के धंधे में लिप्त रहने वाले 5 लोगों को गिरफ्तार किया गया है।