भाइयों ने लगवाया टीका:भैया-दूज के मौके के पर बहनों ने कूटा गोधन, भाई को खिलाई बजरी

नासरीगंज/संझौली/ नौहट्टा/ नोखाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

भाई बहन का प्यार का प्रतीक भैया दूज का पर्व शनिवार को नासरीगंज प्रखण्ड में हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। वही भाइयों के माथे टीको से सजे दिखाई दिए। दिन भर बहनों का अपने भाईयों के यहां टिका लगाने के लिए पहुंचने का सिलसिला जारी रहा। माथे पर टिका लगते हुए बहनों ने अपने भाईयों की सलामती दीर्घायु की दुआ मांगी।

वही सुबह से ही दुकानों पर खरीदारी करने के लिए महिलाओं और युवतियों के तांता लगा रहा।मिठाइयों से लेकर आकर्षक तोहफ़ों की खरीदारी की गई।भाई के अमरत्व के वरदान की कामना के साथ मनाये जाने वाले इस त्योहार की नासरीगंज, हरिहरगंज, जमालपुर, इटिम्हाँ,बलियां, पवनी, अमियावर, अतिमिगंज, बरडीहा, धनाव, यादव टोला, चरगोड़िया आदि गांव में खासी धूम रही। बालिका, युवती व महिलाओं ने एकत्रित होकर मिल-जुलकर गाय के गोबर से यम तथा यमी की चौकोर प्रतिमा का निर्माण किया।

इसके अलावा सांप, बिच्छू भी बनाये। युवतियों ने इन प्रतिमाओं को पहले पूजा, फिर बाद में भाई के इन शत्रुओं को डंडे से कूट डाला। सुबह से बहनों ने अपने भाईयो के लिए व्रत रखा। बहनों ने अपने भाइयों की सलामती और लंबी उम्र की कामना की। उससे पहले सुबह सभी घरों में लोगों ने दरिद्रता को भगाया। सभी घरों में खीर, पूड़ी, पीठा समेत अनेकों प्रकार के पकवान बनाये गए।

पंडित बड़क बाबा शास्त्री ने बताया कि इस दिन बहनें अपने भाइयों को श्रपीत करती हैं। ऐसी मान्यता है कि श्राप देने से भाई की उम्र लम्बी हो जाती है और मृत्यु-भय कम हो जाता है। श्रापित करने के बाद बहनें फिर खुद को कष्ट देकर क्षमा-याचना भी करती हैं। श्राप देने वाली बहनें रेंगनी के कांटे को अपने जीभ में चुभोती हैं। वही पूजा में शामिल पल्लवी कुमारी, खुशी कुमारी, किरण कुमारी, सोनाली कुमारी, प्रिय कुमारी, लल्ली कुमारी, खुशबू कुमारी अादि माैजूद थी। सिटी रिपोर्टर संझौली के अनुसार चित्रगुप्त पूजा और भैया दूज के पावन पर्व के अवसर पर समस्त प्रखण्ड के लोगों को हार्दिक शुभकामना के साथ सुख शांति और समृद्धि की कामना की गई। भाई की मौत की कामना के बाद कांटे से जीभ चुभाती है बहनें, फिर लंबी उम्र की मांगती हैं दुआएं। ज्ञान के अधिष्ठाता देवता चित्रगुप्त भगवान की पूजा एवं आराधना से लोगों में पढ़ने लिखने की अभिरुचि बढ़ती है। बढ़ती हुई अभिरुचि के फलस्वरूप ज्ञान और शिक्षा का प्रकाश घर-घर फैलेगा। धूमधाम से चित्रगुप्त पूजा मनाया गया।

कायस्थ समाज के लोगों ने चित्रगुप्त पूजा के मौके पर भगवान चित्रगुप्त की मूर्ति पर पूजा अर्चना भी किया गया। मौका कायस्थ समाज के कुलदेवता कहे जाने वाले भगवान चित्रगुप्त की पूजा-अर्चना को लेकर कायस्थों में काफी उत्साह देखा गया।

वहीं भाई बहन के बीच अटूट रिश्ते का पर्व है भाई दूज । इस दिन बहनें अपने भाइयों को तिलक लगाकर उनकी लंबी उम्र और सुखी जीवन की कामना किया। उक्त पूजा प्रखण्ड के संझौली सहित प्रखण्ड के हर कायस्थ परिवार ने किया। सिटी रिपोर्टर नौहट्टा के अनुसार स्थानीय प्रखंड अंतर्गत ग्राम सिंहपुर, शाहपुर, बौलिया, दारानगर, भदारा, बान्दू, नौहट्टा, तिउरा, चुटिया, तिलोखर, पंडुका, परछा, तियरा सहित विभिन्न गावों में बहनों द्वारा बड़े उत्साह से भैया दूज का पावन पर्व आज शनिवार को धूमधाम से मनाया गया। इस अवसर पर समस्त बहनों ने भाई के माथे पर तिलक लगाकर उनकी लंबी उम्र के लिए दुआ मांगी। भाई बहन के अटूट प्रेम को सूत्र में पिरोते इस त्योहार को जितना उत्साह बहनों में दिखा उतने ही भाई भी उत्साहित दिखे भाइयों ने भी अपनी बहनों को स्नेह स्वरूप उपहार दिए।

खबरें और भी हैं...