पंचायत चुनाव:उपवास के बाद भी दूसरे चरण की वोटिंग में महिलाएं आगे

नौहट्‌टा| रोहतास2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
नामांकन के लिए कतार में खड़े लाेग - Dainik Bhaskar
नामांकन के लिए कतार में खड़े लाेग
  • महिलाओं ने 74 प्रतिशत तो पुरुषों ने 55 प्रतिशत किया मतदान , कुल मतदान प्रतिशत 64, नौहट्‌टा के मतदान केंद्रों पर सबसे पहले वोट डालने पहुंचीं महिलाएं

दूसरे चरण के पंचायत चुनाव में भी महिलाओं ने मतदान करने के मामले में पुरूषों से बाजी मार ली। वह भी पुत्रों के दीर्घायु होने के लिए कठिन व्रतों में से एक जीवित्पुत्रिका पर के निर्जला उपवास के साथ। महिलाओं ने रोहतास प्रखंड में 70 प्रतिशत तो नौहट्‌टा प्रखंड में 78 प्रतिशत मतदान किया। जिला जन संपर्क पदाधिकारी सत्यप्रिय ने बताया कि दोनों प्रखंडों में औसतन मतदान लगभग 64 प्रतिशत के आस-पास रहा। इसमें रोहतास प्रखंड में 63 और नौहट्‌टा प्रखंड में 66 प्रतिशत मतदान हुए। बुधवार को सुबह से शुरू हुआ मतदान शाम चार बजे तक चला। जिसमें सभी बूथों पर वोट डालने के लिए सबसे पहले महिलाएं ही पहुंची। कठिन निर्जला उपवास के बीच कतारबद्ध होकर अपनी बारी आने का इंतजार किया। इस दौरान रोहतासगढ़ पंचायत के धंसा मध्य विद्यालय मतदान केंद्र पर रिकॉर्ड 75 प्रतिशत वोटिंग हुई। रोहतास डीएम धर्मेंद्र कुमार और एसपी आशीष भारती सुबह से ही दोनों प्रखंडों के सभी मतदान केंद्रों पर पहुंचने के लिए निकल पड़े। यहां तक की मोटरसाईकिलों पर सवार होकर कैमूर पहाड़ी के उपर रेहल और धंसा मतदान केंद्र तक पहुंचे। जहां मतदाताओं से बातचीत की। उनकी समस्याओं को जाना। फिर सुरक्षा व्यवस्था की जायजा ली। तीन मतदान केंद्र रेहल, धंसा और पीपीसीएल अमझोर पर प्रशासन की विशेष नजर थी। क्योंकि स्थानीय लोगों की मांग पर इन मतदान केंद्रों को कैमूर पहाड़ी के पीपरडीह व रोहतासगढ़ पंचायतों के लिए राज्य निर्वाचन आयोग के पास गुहार लगाई गई थी। उसके बाद ये तीनों मतदान केंद्र बने थे। जहां के मतदाताओं ने सभी रिकॉर्ड तोड़ डाले। नौहट्‌टा प्रखंड में 62 प्रतिशत मतदान हुआ। रोहतास में लगभग 60 प्रतिशत मतदान होने के समाचार थे।

1188 प्रत्याशियों का भाग्य इवीएम व मतपेटियों मे बंद
प्रखंड क्षेत्र के 1188 प्रत्याशियों का भाग्य का फैसला बुधवार को इवीएम व मतपेटियों मे बंद हो गया। प्रखंड मे जिप सदस्य के लिए पुरूष प्रत्याशी 12, मुखिया के लिए महिला प्रत्याशी 48, पुरूष प्रत्याशी 37, बीडीसी में पुरूष प्रत्याशी 42, महिला 37, सरपंच पुरूष प्रत्याशी 35, महिला 38, वार्ड सदस्य मे पुरूष प्रत्याशी 343, महिला प्रत्याशी 338, पंच में पुरूष प्रत्याशी 101 तथा महिला प्रत्याशी 109 हैं। 66512 वोटरों के लिए 126 बूथ बनाए गए थे। आरओ अनुराग आदित्य ने बताया कि पहाड़ पर 73 प्रतिशत मतदान हुआ। जबकि पुरे प्रखंड में 63 प्रतिशत मतदान हुआ है।

रोहतास में 66 प्रतिशत मतदाताओं ने किया मतदान
रोहतास प्रखंड के 8 पंचायतों में 63 प्रति मतदान हुई। बूथों पर महिलाओं द्वारा 3 गुना मतदान किया गया । कैमूर पहाड़ी पर बने धंसा मध्य विद्यालय मतदान केंद्र पर कुल रोहतासगढ़ पंचायत के लोगों ने 75 प्रतिशत मतदान किया। वही कैमूर पहाड़ी पर बने धंसा मध्य विद्यालय मतदान केंद्र पर रोहतासगढ़ पंचायत में कुल 74.06 प्रतिशत मतदान हुई। जिसमें पुरुष मतदाता 75 प्रतिशत एवं महिला मतदाता 73.07 प्रतिशत मतदान किया।रोहतासगढ़ पंचायत के धंसा मध्य विद्यालय मतदान केंद्र पर मतदान करने वाले कुल मतदाताओं की संख्या 3624 थी। जिसमें पुरुष मतदाता 1936 एवं महिला मतदाता 1688 थे। वही धंसा मध्य विद्यालय मतदान केंद्र पर मतदाताओं की संख्या 2684 रही। जिसमें पुरुष मतदाता 1452 एवं 1232 महिला मतदाताओं ने मतदान किया।

कैमूर पहाड़ी के ऊपर बसे गांव में बीस साल बाद मना लोकतंत्र का महापर्व
स्थानीय प्रखंड अन्तर्गत कैमूर पहाड़ी पर स्थित पिपरडीह पंचायत एवम रोहतासगढ़ पंचायत में बीस वर्षों के बाद लोकतंत्र का महापर्व मनाया गया । जिसके कारण वोटरो मे काफी उत्साह दीखा ।लोकतंत्र के महापर्व मे इस बार बुलेट के जगह वैलेट व बटन का जोर चला। वर्ष 2001 मे पहली बार दस बूथो पर पंचायत चुनाव में मतदान कराया गया था। बाद मे नक्सली साम्राज्य पहाड़ पर कायम हो गया जिसके कारण प्रशासन हर बार चुनाव मे बूथ स्थानांतरित करके तीस किमी दूर चुन्हट्टा भुडवा व पहडीया तारडीह और प्रखण्ड मुख्यालय रोहतास ले आती थी लेकिन ईस बार वनवासियों के जीद के सामने प्रशासन झुक गयी तथा बूथ को पहाड पर ही रखा। अलग-थलग बूथ न करके सभी बूथ को रेहल पंचायत सरकार भवन एवम रोहतासगढ़ पंचायत के बूथ को धँसा विद्यालय मे रखा गया । जिससे सुरक्षा व्यवस्था चुस्त रही।

पिपरडीह पंचायत के मतदाता एक दिन पहले ही मतदान केंद्र रेहल पहुंच गए थे

त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव प्रखंड क्षेत्र में बुधवार को संपन्न हो गया। चुनाव को लेकर गांव की महिलाओं ने पांच बजे से ही वोट देने के लिए लाइन लगा दी। कैमूर पहाड़ी पर स्थित रेहल मतदान केंद्र पर मतदान के लिए मंगलवार की रात में ही मतदाता पहुंच चुके थे। जीवतिया के कारण ग्रामीणों ने चुनाव कर्मियों से महिलाओं का मतदान पहले संपन्न कराने की अपील की। दस महिला के बाद एक पुरूष मतदाता का मतदान प्रारंभ की गई। कुछ मतदान केंद्रों पर इवीएम काम नहीं कर रहा था। जिसे तुरंत ठीक कर लिया गया। बारह बजे के बाद तिलोखर में एक इवीएम का बैट्री लो हो गया था। जिसे तत्काल बदला गया। एसपी आशीष भारती, डेहरी के एसडीएम समीर सौरभ एएसपी नवजोत सिम्मी, अंचलाधिकारी रामप्रवेश राम, नौहट्टा के थानाध्यक्ष संजय कुमार वर्मा पूरे क्षेत्र के बूथ का मुआयना करते रहे।

खबरें और भी हैं...