पोस्टकार्ड कैम्पेन डे:माई विजन फॉर इंडिया इन 2047 में शामिल होने को 10 स्कूलों ने डाकघर से खरीदा 10055 पोस्टकार्ड

नवादाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • अब शहर के इन स्कूलों में पढ़ने वाले छात्र-छात्राएं पोस्टकार्ड पर लिखेंगे अपने विचार

स्वतंत्रता संग्राम के गुमनाम नायक व माई विजन फॉर इंडिया इन 2047 में शामिल होने के लिए अब तक शहर के 10 स्कूलों द्वारा डाकघर से 10 हजार 55 पोस्टकार्ड खरीदा गया है। सबसे अधिक पोस्टकार्ड खरीदने वाले स्कूलों में डीएवी कैंट शामिल है। स्कूल ऑथोरिटी द्वारा डाक विभाग से चार हजार पोस्टकार्ड खरीदा गया है। वहीं सबसे कम पोस्टकार्ड (दो सौ) टी.मॉडल स्कूल ने लिया है। इनके अलावे जिला स्कूल द्वारा 15 सौ, मानस प्रभा स्कूल दो सौ, परम ज्ञान निकेतन पांच सौ, ज्ञान भारती वर्ल्ड स्कूल तीन सौ, सेन्ट्रल स्कूल वन 11 सौ, सेन्ट्रल स्कूल टू छह सौ, क्रेन मेमोरियल स्कूल एक हजार व शताब्दी पब्लिक स्कूल ने 655 पोस्टकार्ड पोस्टऑफिस से खरीदा है। बता दें कि शहर के अन्य स्कूल भी पोस्टकार्ड जल्द खरीदे, इसके लिए डाक विभाग द्वारा संपर्क अभियान तेज कर दिया गया है।

स्कूल ऑथोरिटी अब दस बेस्ट विचारों को करेगा चयन

डाक विभाग के जनसंपर्क निरीक्षक नीरज ने बताया कि हर स्कूल को डिमांड के अनुसार पोस्टकार्ड उपलब्ध कराया जा रहा है। अब एक निश्चित तिथि को स्कूल में बच्चे दोनों विषयों के थीम पर अपने विचार लिखेंगे, फिर स्कूल ऑथोरिटी सभी की स्क्रीनिंग कर पोस्टकार्ड पर लिखे 10 बेस्ट थीम का चयन करेगी। चयन के बाद इन पोस्टकार्डो को डाक विभाग कलेक्ट करेगा।

पोस्टकार्डो को भेजा जाएगा पीएमओ ऑफिस
जनसंपर्क निरीक्षक ने बताया कि पोस्टकार्ड कैम्पेन डे का समापन 20 दिसंबर को होगा। 22 दिसंबर तक सभी पोस्टकार्डो को स्पेशल बैग से पीएमओ ऑफिस भेजा जाएगा। जनवरी 2022 में चयनित छात्र-छात्राएं फाइनल इवेट्स में शामिल होंगे। उन्होंने बताया कि गया जिले से करीब 70 हजार पोस्टकार्ड भेजने का लक्ष्य है।

पोस्टकार्ड कैम्पेन डे प्रधानमंत्री की अच्छी पहल
वरीय डाक अधीक्षक राश बिहारी राम ने कहा कि देश के सभी राज्यों में पीएम की पहल पर पोस्टकार्ड कैम्पेन डे चलाया जा रहा है। यह उनकी एक और अच्छी पहल है। स्कूल के छात्र-छात्राएं वाट्सएप, फेसबुक व अन्य सोशल साइट्स पर अपने विचार तो जरूर लिखते है पर अब वे देश में संचार की पुरानी पद्धति से भी रू-ब-रू होंगे।

एक पोस्टकार्ड की कीमत हैं 50 पैसे
डाक अधीक्षक ने बताया कि एक पोस्टकार्ड की कीमत 50 पैसे है। स्कूल के डिमांड अनुसार उन्हें पोस्टकार्ड दिया जा रहा है। पोस्टकार्ड को लेने में स्कूलों को कोई परेशानी न हो इसकी भी निगरानी की जा रही है। उन्होंने प्रतियोगिता में शामिल होने वाले छात्र-छात्राओं से कहा कि वे पोस्टकार्ड पर अपना नाम, कक्षा, स्कूल का नाम व कोड जरूर भरे। वहीं प्रधानमंत्री कार्यालय का पता पोस्टकार्ड पर पहले से ही अंकित रहेगा।​​​​​​​

खबरें और भी हैं...