पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

मौसम:नवादा में तेज हवा और गरज के साथ हुई 12 एमएम बारिश

नवादाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • तीन दिन बाद फिर लौटा मानसून, जिले भर में झमाझम बारिश शुरू
Advertisement
Advertisement

2 दिनों तक पारा चढ़ने के बाद एक बार फिर  मौसम का मिजाज बदल गया। गुरुवार को सुबह से ही आसमान में बादल छाए रहने के बाद दोपहर  3 बजे से बारिश शुरू हो गई। जिले के कई हिस्सों में गरज के साथ झमाझम और तेज बारिश हुई। करीब आधे घंटे तक तेज बारिश हुई इसके बाद शाम तक रुक-रुक कर रिमझिम बारिश होती रही।  गुरुवार को जिले में  22 एमएम औसत बारिश हुई। मौसम वैज्ञानिक रोशन कुमार ने इसे मानसून का फिर से लौट जाना बताया है।

मानसून का यह असर अगले 5 दिनों तक बना रहेगा और भारी बारिश होती रहेगी। इसके चलते तापमान में फिर 3 डिग्री तक गिरावट दर्ज की गई। हालाकि नमी कम होने के चलते उमस बनी रही। इस बार बारिश के साथ तेज हवा भी चली इसके कारण कई जगह छप्पर उड़ने और पेड़ों की डालियों को नुकसान होने की सूचना है।

अधिकतम तापमान गिरा: बादल छाए रहने के चलते अधिकतम तापमान में तो कमी आई है लेकिन न्यूनतम तापमान में ज्यादा कमी नहीं हो पाने के कारण रात में भी उमस भरी गर्मी महसूस हो रही है। बादल छाए रहने और हवा में नमी की कमी के कारण तेज उमस महसूस हुई । न्यूनतम तापमान 18.6 से 3.98 डिग्री बढ़ता हुआ गुरुवार की अहले सुबह होने तक 22.4 पर पहुंच गया।

2 दिन गर्मी के बाद फिर बारिश: पूरे जून माह में मौसम सदाबहार बना हुआ है इस बीच 23 और 24 जून को तेज धूप निकलने के कारण गर्मी चढ़ने लगी थी। लेकिन 25 जून को फिर मौसम बदल गया और गुरुवार को दिनभर बादल छाया रहा। दिन भर सूरज आसमान में छुपा रहा । मौसम वैज्ञानिकों के अनुसार आगे भी मौसम भारी बारिश के अनुकूल बना रहेगा।  आज से लगातार पांच दिनों तक भारी बारिश होगी।  

27-28 को सबसे तेज बारिश
कृषि विज्ञान केंद्र के मौसम वैज्ञानिक रोशन कुमार ने बताया कि जिले में शुक्रवार से मानसून जोर पकड़ेगा। 26 जून से 30 जून तक लगातार भारी बारिश होने का पूर्वानुमान है । सबसे अधिक बारिश 27 और 28 जून को अनुमानित है। शुक्रवार से मंगलवार तक 210 मिलीमीटर से अधिक बारिश होने की संभावना है। बता दे इस साल पूरे जून माह में रुक-रुक कर बारिश होती रही है। जून में अब तक 112 एमएम बारिश हो चुकी है। यह औसत से 13% ज्यादा है। ऐसे में अगर 200 मिलीमीटर बारिश और हुई तो 10 साल में पहला मौका होगा जब जून माह में 300 मिलीमीटर से अधिक बारिश होगी।

सतर्क रहें इस बार तेज आंधी और वज्रपात भी: मौसम वैज्ञानिक ने अलर्ट जारी करते हुए कहा है कि इस बार अधिक सतर्क रहने की जरूरत है। बारिश बारिश के साथ ही तेज आंधी और जगह-जगह बज्रपात होने की भी आशंका है। किसान भाई किसी भी फसल की सिंचाई नहीं करें और ना ही रसायन का छिड़काव करें। जिनके धान का बिचड़ा तैयार हो चुका है। वे धान रोपनी के लिए खेतों को तैयार करें । खेत के मेढ़ो को ठीक कर ले ताकि बारिश के पानी को जमा किया जा सके।  

Advertisement
0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव- अगर कोई विवादित भूमि संबंधी परेशानी चल रही है, तो आज किसी की मध्यस्थता द्वारा हल मिलने की पूरी संभावना है। अपने व्यवहार को सकारात्मक व सहयोगात्मक बनाकर रखें। परिवार व समाज में आपकी मान प्रतिष...

और पढ़ें

Advertisement