पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Patna
  • Nawada
  • Awareness And Education Among Health Related People Is The Reason For Prevention Of Infectious Diseases Dr. Pritanjali Singh

संगोष्ठी:स्वास्थ्य संबंधी लोगों के बीच में जागरुकता और शिक्षा है संक्रामक रोगों से बचाव का कारण- डॉ. प्रीतांजलि सिंह

नवादा5 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • बीमारी की रोकथाम में एक अच्छा पोषणयुक्त भोजन शरीर को रोगों से लड़ने की शक्ति प्रदान करता है

आरएमडब्ल्यू कॉलेज नवादा में गृह विज्ञान विभाग द्वारा चल रहे तीन दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय संगोष्ठी के दूसरे दिन रविवार को विभिन्न विषय विशेषज्ञों ने नॉन कम्युनिकेबल डिजीज के विषय में अपने विचार प्रस्तुत किए। प्रथम सत्र में एम्स पटना की प्रसिद्ध स्त्री रोग विशेषज्ञ एवं कैंसर स्पेशलिस्ट डॉ प्रीतांजलि सिंह ने महिलाओं में होने वाले विभिन्न प्रकार के कैंसर, उनके कारण ,उनके लक्षण एवं उनके प्रारंभिक उपचार और उससे किस प्रकार से देखभाल की जाए इस पर वैज्ञानिक ढंग से पावर पॉइंट के माध्यम से अपनी प्रस्तुति दी। विशिष्ट वक्ता के रूप में डॉक्टर धीरज कुमार, डॉ गीतांजलि चौधरी ने भी कुपोषण और संक्रामक बीमारियों से सभी प्रतिभागियों को अवगत कराया।

मगध महिला महाविद्यालय की सहायक प्राध्यापिका डॉ. रजनी पांडे ने कुपोषण के विभिन्न आयाम से परिचित कराते हुए कहा कि जब तक हम अपने भोजन में पोषण के सिद्धांतों और नियम को सम्मिलित नहीं करेंगे तब तक हम ना तो शारीरिक और ना ही मानसिक रुप से स्वस्थ हो सकेंगे। आवश्यकता है इस पोषण माह के द्वारा लोगों के अंदर पोषण संबंधी जागरुकता को फैलाने की तभी भारत में कुपोषण की समस्या को दूर किया जा सकता है और इसमें गृह विज्ञान की छात्राएं अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकती है। कार्यक्रम का संचालन अंतरराष्ट्रीय संगोष्ठी की संयोजिका डॉ स्मिता कुमारी ने किया। डॉ स्मिता ने पोषण से संबंधित कई प्रकार के प्रश्नोत्तरी का भी आयोजन किया तथा तकनीकी सहायक के रूप में डॉ मृदुला ने अपनी भूमिका निभाई। कार्यक्रम में मगध विश्वविद्यालय के स्नातकोत्तर गृह विज्ञान की सहायक प्राध्यापक डॉ दीपशिखा पांडे, डॉ अनामिका, महाविद्यालय के प्रधानाचार्य डॉ एस के मिश्रा के साथ-साथ अधिक संख्या में प्रतिभागी उपस्थित रहे।

खबरें और भी हैं...