पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

गोलीबारी में 18 साल का युवक घायल:नवादा में 3 बाइक पर 8 अपराधी आए और करने लगे ताबड़तोड़ फायरिंग; युवक के हाथ में लगी गोली

नवादा24 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
घटनास्थल पर मची अफरातफरी। - Dainik Bhaskar
घटनास्थल पर मची अफरातफरी।

नवादा के नगर थाना क्षेत्र के कोनियापर इलाके में अपराधियों ने ताबड़तोड़ फायरिंग की, जिसमें 1 युवक घायल हो गया। उसका इलाज अस्पताल में चल रहा है। युवक की पहचान कोनियापार निवासी रूपा देवी के पुत्र रोशन कुमार (18 साल) के रूप में की गई है। फायरिंग होते ही घटनास्थल पर अफरातफरी मच गई। लोग इधर-उधर भागने लगे, जिसमें युवक घायल हो गया। इसके बाद परिजन अस्पताल ले गए। उसके हाथ में गोली लगी है। इधर, घटना की सूचना मिलते ही स्थानीय थाने की पुलिस मौके पर पहुंची और मामले की छानबीन में जुट गई है। बाइक सवार अपराधियों की पहचान फिलहाल नहीं हो पाई है।

रोशन की मां रूपा देवी ने बताया कि रोशन घर के बाहर ही बैठा हुआ था। अचानक 3 बाइक पर सवार होकर 8 अपराधी मौके पर पहुंच गए। एक पर 2 और दो बाइक पर 3-3 अपराधी थे। इसमें से एक बाइक सवार अंधाधुंध फायरिंग शुरू कर दी। गोलियों की गूंज से पूरा इलाका दहल उठा, जिसके बाद लोग इधर-उधर भागने लगे। भगदड़ के बीच अपराधियों ने रोशन को गोलियों से छलनी करने की कोशिश की, लेकिन वह जान बचाने के लिए भागने लगा। इसी क्रम में उसके हाथ में गोली जा लगी। इसके बाद अपराधी वहां से फरार हो गए।

इधर, अपराधियों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर ग्रामीणों ने गांव के समीप नवादा-जमुई पथ को तकरीबन 3 घंटे तक जाम रखा, जिससे यातायात पूरी तरह बाधित हो गया। घायल युवक रोशन कुमार बाबूलाल राजवंशी का पुत्र है। उससे बाएं हाथ में गोली लगी है। ग्रामीणों ने बताया कि आसाढ़ी गांव के चिंटू सिंह, विकास पांडे समेत 7-8 बदमाश तीन अलग-अलग बाइक से सवार होकर आए और अंधाधुंध गोलीबारी शुरू कर दी। इसी में रोशन को गोली लग गई।

ग्रामीणों का कहना है कि बाइक सवार बदमाश गांव में घुसकर अपना वर्चस्व बनाना चाहते हैं। इसी का विरोध करने पर फायरिंग की गई है। उन्होंने पूरे मामले में पुलिस पर लापरवाही का आरोप लगाया। उनका आरोप है कि गोलीबारी के 3 घंटे बाद भी पुलिस घटनास्थल पर नहीं पहुंची। इसलिए अपराधी मौके से भागने में सफल रहे। अगर पुलिस समय रहते पहुंच जाती तो अपराधी सलाखों के पीछे होते। इधर घटना की जानकारी मिलने पर सदर एसडीपीओ उपेंद्र प्रसाद, नगर थानाध्यक्ष नरोत्तम पुलिस दल-बल के साथ गांव पहुंचे और ग्रामीणों को समझाने बुझाने में जुट गए। कड़ी मशक्कत के बाद जाम को हटाया जा सका। कुछ लोगों ने बताया कि आषाढ़ी गांव में मिट्टी उठाने को लेकर विवाद हुआ था, जिसके बाद गोलीबारी की गई है। एसडीपीओ ने बताया कि अपराधियों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी शुरू कर दी गई है।

खबरें और भी हैं...