नवादा में चुनावी रंजिश में युवक की हत्या:परिजनों का आरोप- जिला परिषद सदस्य और उसके सहयोगी ने घर घुसकर बेरहमी से मारा था

नवादा16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
जिला परिषद प्रत्याशी सुनील केवट। (फाइल फोटो) - Dainik Bhaskar
जिला परिषद प्रत्याशी सुनील केवट। (फाइल फोटो)

नवादा में चुनावी रंजिश में हुई मारपीट में घायल सुनील केवट की मौत हो गई। पटना में इलाज के दौरान उसने दम तोड़ दिया। शुक्रवार को आक्रोशित परिजन शव लेकर सदर अस्पताल पहुंचे। इसके बाद पुलिस से हत्यारे की गिरफ्तारी की मांग करने लगे। मृतक के भतीजा बंटी ने एक नवनिर्वाचित जिला परिषद भूषण केवट समेत 13 लोगों पर हत्या की प्राथमिकी दर्ज कराई।

22 दिसंबर को सुनील अपने घर में था। इसी दौरान कुछ लोग घर घुस गए और उन्हें मारपीट करने लगे। मारपीट करने वाले लोगों का कहना था कि चुनाव लड़ने से मना करने के बाद भी उम्मीदवार क्यों बने? यह कहते हुए बेरहमी से पीटने लगा। परिवार वाले बचाने गए तो उनके साथ भी मारपीट की। मारपीट में सुनील गंभीर रूप से जख्मी हो गया। इसके बाद आननफानन में उसे अस्पताल में भर्ती करवाया गया। इलाज के दौरान उसने दम तोड़ दिया।

थानाध्यक्ष ने बताया कि बयान लिया गया है। प्राथमिकी दर्ज की जा रही है। उन्होंने बताया कि मारपीट होने पर उसी दिन दोनों पक्षों ने आपसी सुलह कर लिया था। तब प्राथमिकी दर्ज नहीं कराई गई थी। कुछ लोगों से पूछताछ की जा रही है। मामले में आगे की कार्रवाई चल रही है।

खबरें और भी हैं...