उमड़े लोग:दंगल प्रतियोगिता में पठानकोट के बॉबी और गोविंदापुर के रौशन ने जीता सोना

नवादाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • नीतीश को चांदी से संतोष करना पड़ा, बिहार-झारखंड यूपी व पंजाब के पहलवानों ने आजमाया दांव

नवादा गोवर्धन पूजा समिति द्वारा आयोजित होने वाले प्रसिद्ध विराट दंगल प्रतियोगिता में इस बार कोल्हा बीघा के पहलवान चित हो गए। पंजाब के पठानकोट के बॉबी पहलवान और नवादा के गोंदापुर के रौशन यादव ने कोल्हा बिगहा के पहलवानों की बादशाहत को कुचलते हुए क्रमशाह सीनियर और जूनियर वर्ग का गोल्ड मेडल जीत लिया। गोवर्द्धन पूजा के एक दिन बाद शहर के हरिश्चन्द्र स्टेडियम में विराट दंगल प्रतियोगिता का आयोजन किया गया था।

गोवर्द्धन पुजा आयोजन समिति तथा पूर्व मंत्री राजबल्लभ प्रसाद के सौजन्य से आयोजित इस दंगल में नवादा, नालंदा, शेखपुरा जिले के अलावा बिहार झारखंड उत्तर प्रदेश और पंजाब के करीब 100 पहलवानों ने जोर-आजमाइश किया। हजारों लोगों की भीड़ के बीच हुए इस दंगल में पंजाब के पठानकोट निवासी बॉबी पहलवान को गोल्ड मेडल का विजेता घोषित किया गया।

जबकि इस दंगल में कोल्हा बिगहा के पहलवान नीतीश कुमार को उप विजेता घोषित किया गया। जूनियर मेडल के लिए हुए मुकाबले में नवादा के गोंदापुर निवासी पहलवान रौशन यादव विजयी हुए। जूनियर वर्ग में के पहलवान अजय यादव उपविजेता रहे। दंगल में जीते पहलवान उत्साहित नजर आए और उनके समर्थक अपने कंधे पर बैठाकर थिरकते दिखे।
दंगल देखने के लिए उमड़ी भीड़, हजारों लोग जुटे
दंगल प्रतियोगिता को देखने के लिए काफी संख्या में लोग स्टेडियम पहुंचे थे। दंगल के दौरान दर्शक पहलवानों को वाहवाही देकर उनका उत्साह बढाते रहे। राजद जिलाध्यक्ष महेन्द्र यादव ने बताया कि पूर्व मंत्री राजबल्लभ प्रसाद यादव के नेतृत्व में दंगल प्रतियोगिता का आयोजन होता आ रहा है। उनकी अनुपस्थिति में भी दंगल प्रतियोगिता आयोजित की गई और सफल रही है। जिला पार्षद अशोक यादव ने कहा कि दंगल प्रतियोगिता संस्कृति की समृद्ध विरासत है। इसके संरक्षण के लिए हम लोग सजग हैं। यह आगे भी जारी रहेगा।
विजेता को मिला 21000 और 11000 रूपए का नगद पुरस्कार
कार्यक्रम में राजद जिलाध्यक्ष महेन्द्र यादव , और जिला पार्षद अशोक यादव ने गोल्ड वर्ग के विजेता को 21000 रूपए और सिल्वर के विजेता को 11000 रूपए का नकद पुरस्कार दिया। इसके अलावे गोल्ड मेडल के उपविजेता को मैडल के अलावे 11000 रूपए तथा सिल्वर मेडल के उपविजेता को 5100 रूपए का नकद पुरस्कार दिया गया। इसके अलावे प्रतियोगिता में भाग लेने वाले सभी पहलवानों को एक लंगोट और नगद रूपए देकर सम्मानित किया गया।

खबरें और भी हैं...