मांग:लोकतांत्रिक मूल्यों पर आघात कर रही केंद्र सरकार देश हित में जातीय जनगणना जरूरी

नवादा3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मांग को लेकर प्रदर्शन करते राजद कार्यकर्ता। - Dainik Bhaskar
मांग को लेकर प्रदर्शन करते राजद कार्यकर्ता।
  • जातीय जनगणना और आरक्षण बैकलॉग भरने की मांग को लेकर सड़क पर उतरे राजद कार्यकर्ता

जातीय जनगणना और आरक्षण बैकलॉग भरने की मांग को लेकर तेजस्वी यादव के आह्वान पर राष्ट्रीय जनता दल के कार्यकर्ता शनिवार को सड़क पर उतरे। राजद जिलाध्यक्ष महेंद्र यादव की अध्यक्षता में आयोजित इस कार्यक्रम के दौरान नवादा, गोविंदपुर और रजौली के विधायक के नेतृत्व में कार्यकर्ताओं ने नवादा शहर में जोरदार प्रदर्शन किया। कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए नवादा की विधायक विभा देवी ने कहा कि 07 अगस्त 1990 को तत्कालीन प्रधानमंत्री विश्वनाथ प्रसाद सिंह के द्वारा बीपी मंडल आयोग की सिफारिशों को लागू किया गया था। वह 1931 के जनगणना पर आधारित है। प्रदर्शन में शामिल रजौली विधायक प्रकाश वीर ने कहा कि जब देश में पशु पक्षी की गणना हो सकती है तो देश के उन लोगों की सामाजिक आर्थिक विकास के लिए जातीय जनगणना अतिआवश्यक है। गोविंदपुर विधायक मोहम्मद कामरान ने कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि भारत जैसे विशाल जनसंख्या वाले मुल्क एवं बिहार जैसे पिछड़े राज्य के लिए 90 बरसो मे काफी कुछ बदलाव हुआ है। इस दौरान जिला उपाध्यक्ष अनिल प्रसाद सिंह, प्रधान महासचिव शशि भूषण शर्मा ,विजय चौधरी रामदेव यादव उमेश यादव भानु चंद्रवंशी डायमंड चौहान जय लाल चौहान शेर अली खान अंबिका साव रंजीत यादव संजय सिंह अनिल कुशवाहा विजेंद्र कुशवाहा बीना देवी राजदेव यादव पूर्व जिला पार्षद जिला पार्षद शारदा राजवंशी नगर अध्यक्ष कैसर आलम मुन्ना तारीख हसन, तरुण राजवंशी, सीताराम चौधरी, सुरेंद्र यादव राजेंद्र यादव प्रदर्शन में शामिल हुए।

खबरें और भी हैं...