पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

महंगाई के खिलाफ हल्ला बोल:साइकिल-टमटम ले सड़क पर उतरे कांग्रेसी, बोले- पेट्रोल 200 व सरसों तेल 500 तक ले जाएगी सरकार

नवादा12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
प्रदर्शन में शामिल कांग्रेस कार्यकर्ता - Dainik Bhaskar
प्रदर्शन में शामिल कांग्रेस कार्यकर्ता
  • जिलाध्यक्ष की अगुवाई में कांग्रेसियों ने जुलूस निकालकर सड़कों पर प्रदर्शन किया

बढ़ती महंगाई, पेट्रोलियम पदार्थों के मूल्य में बेतहाशा वृद्धि, घरेलू उपयोग के सामानों की कीमत में वृद्धि एवं कृषि कानून बिल के खिलाफ जिले को कांग्रेसियों ने सड़क पर उतर कर विरोध जताया। जिलाध्यक्ष दिलीप कुमार की अगुवाई में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने साइकिल एवं टमटम के साथ जुलूस निकालकर शहर की सड़कों पर प्रदर्शन किया। प्रदर्शन का नेतृत्व जिला प्रभारी अवधेश कुमार सिंह कर रहे थे। इस मौके पर श्री सिंह ने कहा कि वर्तमान सरकार को देश की गरीब जनता से कुछ लेना देना नहीं है।

खाने में जिस तेल का उपयोग करते हैं वह पाम ऑइल कच्चे तेल से बनता है। जिसका एकमात्र एक्सपोर्ट इंपोर्ट करने वाला अडानी है। अडानी को सिर्फ फायदा पहुंचाने के लिए खाद्यान्न तेल की कीमत में बढ़ोत्तरी की गयी है। इसी तरह अंर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमत बहुत कम है। देश के अंदर सबसे बड़ा पेट्रोलियम की रिफायनरी रिलायंस के पास है। सिर्फ उसे फायदा पहुंचाने के लिए पेट्रोलियम पदार्थों के मूल्य में वृद्धि की जा रही है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी हिंदुस्तान की रीढ़ रही है। किसी न किसी रूप में प्रत्येक घर में कांग्रेस के प्रति सोच रखने वाले लोग आज भी हैं।

यह अलग बात है कि मोदी झूठ बोलकर सरकार में तो आ गए लेकिन वह सत्ता चलाने में असफल हो रहे हैं। आज तक उनके दल के किसी प्रवक्ता द्वारा या खुद पीएम नरेंद्र मोदी द्वारा महंगाई की चर्चा नहीं की गई है। आम जनता से जुड़े सवालों पर चर्चा नहीं की जाती है। उन्होंने कहा कि जब जब चुनाव आता है हिंदू-मुस्लिम के नाम पर लोगों को भड़काकर ये सत्ता में आ जाते है। लेकिन इस बार पूरे देश की जनता त्राहिमाम कर रही है। 350 का सिलिंडर आज 1000 के करीब पहुंच चुका है। कांग्रेस के 70 साल में डीजल की कीमत 45 रुपये तक ही पहुंचा पाई थी। नरेंद्र मोदी की सरकार में मात्र 6 सालों में पेट्रोल 100 के पार कर गया। सरसों तेल 6 साल पहले 70 रुपये किलो था। आज 200 के पार हो चुका है। महिलाओं के किचन में उपयोग होने वाले सभी सामग्री 6 साल में दोगुने से भी अधिक महंगे हो चुके हैं।

गरीबों पर पड़ रहा महंगाई का डंडा : बिहार प्रदेश कांग्रेस नालंदा के सह प्रभारी अरविंद चौधरी ने कहा कि एक ओर कोरोना महामारी के नाम पर लूट मची है तो दूसरी तरफ महंगाई का डंडा गरीबों पर पड़ रहा है। जिस तरह से महंगाई बढ़ी हुई है। अगर यही सिलसिला जारी रहा तो बहुत जल्द पेट्रोल 200 और सरसों का तेल 500 के पार कर जायेगा।

जनता सिखाएगी सबक
पूर्व विधायक रवि ज्योति ने कहा कि महंगाई से त्रस्त जनता भाजपा को सबक सिखाएगी। महंगाई बेतहाशा बढ़ती जा रही है। लेकिन सरकार हाथ पर हाथ धरे बैठी है।
कार्यक्रम में ये थे शामिल
कार्यक्रम में सेवा दल के राष्ट्रीय समन्वयक नारायण कुमार सिंह, जिला उपाध्यक्ष जितेंद्र प्रसाद सिंह, मुन्ना पांडे, फरहत जबी, संजू पांडे, नंदू पासवान, राजीव कुमार, महताब आलम गुड्डू, उदय कुशवाहा, अश्विनी गौरव, छात्र संगठन से अजय यादव, सेवादल बच्चु प्रसाद, नवप्रभात प्रशांत, सर्वेन्द्र कुमार, रामचन्द्र प्रसाद आदि शामिल थे।

रिलायंस कंपनी को सरकारी पेट्रोल पंपों पर बिना पूंजी लगाए कब्जा दिलाने का काम

जिलाध्यक्ष दिलीप कुमार ने कहा कि यह रैली तो झांकी है लड़ाई अभी बाकी है। उन्होंने कहा कि अगर पेट्रोलियम पदार्थों के मूल्य वापस नहीं लिए गए, सरसों तेल के कीमत को कम नहीं किया गया, किसानों के लिए काला कानून को रद्द नहीं किया गया तो कांग्रेस आम जनता के सहयोग से आंदोलन को और तेज करेगी। उन्होंने कहा कि पेट्रोल पंप चाहे वह इंडियन ऑइल का हो, भारत पेट्रोलियम का हो चाहे वह हिंदुस्तान पैट्रोलियम का हो सभी पर सीएनजी गैस अनिवार्य किया जा रहा है। यह क्यों किया जा रहा है यह समझने की बात है। सीएनजी बनाने का एकमात्र प्लांट अपने देश में रिलायंस कंपनी का है। रिलायंस कंपनी को सरकारी पेट्रोल पंपों पर बिना पूंजी लगाए कब्जा दिलाने का कार्यक्रम चल रहा है। इसी तरह से बहुत सारी सरकारी कंपनियां हैं उसे अंबानी अडानी के हाथों में देने की प्रक्रिया चल रही है। चाहे वह बैंकों का निजीकरण हो, रेलवे का निजीकरण हो, एलआईसी का निजीकरण हो या पेट्रोलियम का निजीकरण हो कहीं न कहीं सरकार वैसे लोगों को फायदा पहुंचाने में लगी हैं।

खबरें और भी हैं...