आराधना:अच्छे-बुरे कर्मों का हिसाब रखने वाले देव चित्रगुप्त के आगे श्रद्धालु नतमस्तक

नवादाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • चित्रगुप्त पूजा पर दिखा उत्सवी माहौल, घरों और मंदिरों में पूजा-अर्चना

कलम-दवात का त्योहार जिले भर में श्रद्धा- भक्ति और उत्साह के साथ मनाया गया। मनुष्य के अच्छे-बुरे कर्मो का हिसाब रखने वाले चित्रगुप्त महाराज के सामने उनके अनुआइयों ने नतमस्तक होकर पुजा-अर्चना किया। इसको लेकर शनिवार को जिले भर में उत्सव का माहौल दिखा। कायस्थ समाज के लोगों ने जिले के कई स्थानों पर चित्रगुप्त मंदिरों में तथा अपने-अपने घरों में भगवान चित्रगुप्त की पूजा अर्चना की। पूजा के दौरान कलम-दावात की भी पूजा हुई। अनेक जगह श्रद्धालुओं ने भगवान की मंदिर में जाकर पूजा की।

चित्रगुप्त पूजा को लेकर शोभिया मंदिर, गढ़पर मंदिर, वीआईपी काॅलनी, बागी बरडीहा समेत कई मंदिरों में पूजा पाठ को लेकर काफी भीड़ लगी रही। श्रद्धालुओं ने अपने घरों में पूजा करके अपने परिवार व रिश्तेदार के साथ भंडारा का आयोजन किया। लोगों ने बताया कि कार्तिक में यम द्वितीया को चित्रगुप्त भगवान जी का पूजन किया जाता है। नवादााा शहर में करीब करीब आधा दर्जन स्थानोंं प भगवान चित्रगुप्त कीं सामूहिक पूजा-अर्चना की जाती है। इन स्थानों पर सुबह से ही श्रद्धालुओं का आना-जाना शुरू हो गया।

समाजसेवी मनीष कुमार सिन्हा के नेतृत्व में शोभ पर स्थित चित्रगुप्त मंदिर में चांदी का मुकुट चढ़ाया गया। इसका सारा खर्च संजीव राज, सुबीर राज, व लाल जी सिन्हा ने वहन किया ।इस पूजा कार्यक्रम में अधिवक्ता कृष्ण कुमार सिन्हा, संत विलास सिन्हा, शिबू सिन्हा, विजय प्रसाद सिन्हा आदि मौजूद थे।

भगवान चित्रगुप्त की पूजा सम्पन्न
हिसुआ | नगर व ग्रामीण क्षेत्र में शनिवार को भगवान चित्रगुप्त की पूजा-अर्चना कायस्थ परिवार के लोगों द्वारा किया गया। बताया जाता है कि इसमें कायस्थ समाज सपरिवार भगवान चित्रगुप्त की पूजा में शामिल होते हैं। सारे लोग चित्रगुप्त भगवान के समक्ष साल भर का लेखा जोखा प्रस्तुत करते हैं तथा घाटे की भरपाई के लिए इष्टदेव से प्रार्थना की जाती है। भगवान को आदि व गुड़ का शरबत बनाकर चढाया जाता है। इसे प्रसाद समझकर परिवार के सभी सदस्य थोड़ा-थोड़ा पान करते हैं। हिसुआ शहर में सुनील सिन्हा , राखी सिंहा, विनोद नंद कुलयार आदि ने बताया कि भगवान चित्रगुप्त की पूजा से आत्मा को शांति मिलती है तथा जीवन में अच्छा करने की प्रेरणा मिलती है।

सिरदला में चित्रगुप्त पूजा की रही धूम
सिरदला | सिरदला प्रखंड के बेर्री गांव सहित विभिन्न गांव में कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष की द्वितीया तिथि शनिवार को कायस्थ समाज के लोगों ने पूरे लग्न और श्रद्धा के साथ भगवान चित्रगुप्त की पूजा-अर्चना किया। पूजा के दौरान श्रद्धालुओं चित्रगुप्त भगवान के तस्वीर के समीप कलम
दवात, किताब रखकर फूल-
माला, दिप, हवन कर पूजा
अर्चना की।

खबरें और भी हैं...