गिरफ्तारी:दो बसों से विदेशी शराब और बियर हुई बरामद बेगूसराय, रांची व मोकामा के तस्कर गिरफ्तार

नवादाएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
जांच के दौरान ट्रकों को रोकर तलाशी लेती पुलिस। - Dainik Bhaskar
जांच के दौरान ट्रकों को रोकर तलाशी लेती पुलिस।
  • शराब तस्करी का सबसे सेफ माध्यम बन रही झारखंड और बंगाल से आने वाली बसें, धंधेबाज सक्रिय

शराब बंदी लागू होने के बाद से झारखंड और बंगाल से बड़े पैमाने पर शराब बिहार लाई जा रही है। क्योंकि बॉर्डर पर निजी वाहनों की जांच ज्यादा होती है इसलिए शराब धंधेबाज यात्री वाहनों से शराब ला रहे हैं। पश्चिम बंगाल और झारखंड से बिहार आने वाली बसें शराब तस्करी का सबसे सेफ माध्यम बनी हुई है। एक बार फिर ऐसा ही मामला सामने आया जब यात्री बसों की जांच की गई तो दो बसों से भारी मात्रा में विदेशी शराब और बीयर बरामद हो गए। मामला शनिवार की रात का है जब रजौली चितरकोली पंचायत स्थित समेकित जांच चौकी पर उत्पाद विभाग की टीम ने झारखण्ड से बिहार जाने वाले दो बसों की जांच शुरू किया तो दो अलग-अलग बसों से कुल 63 बोतल विदेशी शराब बरामद किया।

साथ ही मौके से चार शराब धंधेबाज को गिरफ्तार किया गया। उत्पाद अधीक्षक अनिल कुमार आजाद ने बताया कि समेकित जांच चौकी पर उत्पाद निरीक्षक रामप्रीत कुमार के नेतृत्व में मद्दनिषेध हेतु झारखण्ड से आने वाले छोटी एवं बड़ी वाहनों की सघन जांच उत्पाद विभाग एवं पुलिस की टीम द्वारा की जाती है। वाहन जांच के क्रम में झारखण्ड से पटना की तरफ जा रही मैहर रथ एवं राहुल नामक दो बसों से शनिवार की देर रात्रि झारखण्ड निर्मित 54 बोतल विदेशी शराब एवं 9 बोतल बियर बरामद किया गया। जब्त विदेशी शराब की कुल मात्रा 40.5 लीटर एवं बियर की कुल मात्रा 4.5 लीटर है।

शराब के साथ चार लोगों को गिरफ्तार किया गया
उत्पाद अधीक्षक ने बताया कि बरामद शराब के साथ चार लोगों को गिरफ्तार किया गया। गिरफ्तार लोगों की पहचान बेगुसराय जिले के बरौनी थाना क्षेत्र के जीरो माइल विहट निवासी दीना साह के पुत्र उपेन्द्र साह व मानिक साह के पुत्र राजीव साह, रांची के खिजुटोला निवासी दुरवादल दास के पुत्र पुरुषोत्तम दास एवं पटना जिले के टाउन थाना निवासी मोकामा निवासी चन्द्रमौली सिंह के पुत्र प्रिंस कुमार के रूप में हुई है।सभी गिरफ्तार लोगों के विरुद्ध बिहार मद्दनिषेध एवं उत्पाद अधिनियम के तहत प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है। गिरफ्तार लोगों को रविवार को न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया जाएगा।

कई बार छापेमारी में बसों से बरामद हो चुकी है शराब की बड़ी खेप
शनिवार की रात बस से शराब बरामद होने की घटना कोई नई नहीं है। इससे पहले भी कई बार झारखंड और बंगाल से आने वाली बसों से शराब बरामद हो चुकी है। कई बार बस चालकों को पता भी नहीं चलता और शराब तस्कर यात्री के रूप में बस पर सवार होकर शराब की तस्करी कर लेते हैं। हालांकि कई बसों के स्टाफ और झारखंड तथा बिहार में रहने वाले उनके एजेंट भी इस धंधे में शामिल है। शराब तस्कर यात्री के वेश में ही भारी-भरकम बैग लेकर बस में सवार होते हैं बैग में कपड़े होते हैं और शराब भी। हल्की फुल्की जांच में यह पता भी नहीं चलता। ऐसे मामलों में गोपनीय इनपुट मिलने के बाद ही शराब की बरामदगी हो पाती है।

शराब के साथ धंधेबाज धराए
थानाक्षेत्र स्थित नेपुरा मोड़ से रविवार की अहले सुबह शाहपुर ओपी की पुलिस ने ई-रिक्शा पर बिक्री के लिये ले जाए जा रहे 20 लीटर शराब को वाहन समेत जब्त कर लिया । मौके पर से कारोबारी कोचगांव ग्रामीण दीपक कुमार को भी हिरासत में लिया गया । ओपीअध्यक्ष राजेश कुमार ने बताया कि हिरासत में लिए गए कारोबारी के विरुद्ध मामला दर्ज कर जेल भेज दिया गया । शराब के कारोबारियों के विरुद्ध निरंतर छापेमारी की जा रही है ।
तीन शराबी गिरफ्तार,भेजे गए जेल
कौआकोल पुलिस ने रविवार को शराब पीने के आरोप में पावापुरी गोवरैया गांव के तीन व्यक्ति के विरुद्ध मामला दर्ज कर जेल भेज दिया है। कौआकोल पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार शनिवार की शाम पावापुरी गोवरैया गांव में छापेमारी के दौरान उसी गांव के बिरेन्द्र प्रसाद,बाजो भुल्ला तथा रावण कुमार को शराब पीने के आरोप में गिरफ्तार कर थाना लाया गया। शराब पीने की पुष्टि होने के बाद तीनों के विरुद्ध मामला दर्ज कर जेल भेज दिया गया।

खबरें और भी हैं...