पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कार्यक्रम आयोजित:भारतीय किसान संघ ने मनाया प्रभु बलराम की जयंती, किसान हितों की रक्षा संकल्प

नवादा4 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • भारतीय किसान संघ की स्थापना 4 मार्च 1979 को राजस्थान के कोटा में हुई थी

भारतीय किसान संघ ने भगवान बलराम की जयंती मनाकर किसान हितों की रक्षा का संकल्प लिया। किसान संघ की जिला इकाई ने कार्यक्रम आयोजित कर भगवान बलराम के गुणों की चर्चा की। प्रांत महामंत्री मनोज कुमार ने कहा कि भगवान बलराम गैर राजनीतिक कृषि देवता है और किसानों के आदर्श हैं। भारतीय किसान संघ की स्थापना 4 मार्च 1979 को राजस्थान के कोटा में हुई थी।

इस दिन देश के 650 प्रतिनिधियों की प्रतिनिधि सभा में भारतीय किसान संघ की रीति-नीति व कार्यपद्धती के आयाम तय करने के बाद उसकी सतत क्रियान्वयन हेतु ध्येय वाक्य, ध्वज, नारे, प्रेरणा स्रोत व्यक्तित्व को कुल देवता के रूप में स्वीकार करने पर गहरी चर्चा हुई। संगठन की रिति-नीति में खेती करो और खेती ही करो के ध्येय वाक्य के साथ संगठन का राष्ट्रवादी व गैरराजनीतिक स्वरूप को दर्शाने हेतु कुल देवता के रूप में एक व्यक्तित्व का चुनाव करना था । जिसके लिए सर्वसम्मति से भगवान बलराम जी को कुल देवता के रूप में अंगीकार किया था। तब से लेकर आज तक भारतीय किसान संघ नियमित रूप से भगवान बलराम की आराधना करते आया है और हर साल जयंती मनाकर किसान हितों की रक्षा के लिए संकल्प लेता है।

खबरें और भी हैं...