पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कार्यशाला:छात्राओं को संतुलित आहार की दी गई जानकारी

नवादा20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
आहार कैलकुलेट की छात्राओं को जानकारी देते हुए। - Dainik Bhaskar
आहार कैलकुलेट की छात्राओं को जानकारी देते हुए।
  • आरएमडब्ल्यू कॉलेज में तीन दिवसीय आहार कार्यशाला की शुरुआत, छात्राओं के बीच हुई न्यूट्रीशन रेस

आरएमडब्ल्यू कॉलेज नवादा में तीन दिवसीय आहार कार्यशाला की शुरुआत की गई। इसमें सबसे पहले छात्राओं के बीच न्यूट्रीशन संबंधित रेस करवाया गया। यह एक प्रकार का चेयर रेस था जिसमें क्वेश्चन का सही जवाब देने पर विद्यार्थियों को बैठ जाना था। इस तरह काफी छात्राओं ने इस में बढ़ चढ़कर भाग लिया और काफी आनंद उठाया। विभाग अध्यक्ष डॉ स्मिता कुमारी के अनुसार कार्यक्रम में प्रथम द्वितीय तथा तृतीय आने वाली छात्राओं को पुरस्कृत किया जाएगा। कार्यक्रम को आगे बढ़ाते हुए अपराहन में छात्राओं को अपना आहार कैलकुलेट करने के लिए बताया गया कि हमें अपने डाइट में टोटल कैलोरी को किस तरह से डिफरेंट न्यूट्रिएंट्स के द्वारा लिया जाए। छात्राओं ने इस प्रोग्राम में काफी दिलचस्पी दिखाई और आगे भी उन्होंने विभागाध्यक्ष से रिक्वेस्ट किया कि हमें इसका डीप नॉलेज की जरूरत है आगे भी इस तरह का कार्यक्रम चलते रहे। छात्राएं काफी उत्साहित दिखी। कार्यक्रम का उद्घाटन प्राचार्य डॉक्टर सुधीर कुमार मिश्रा के द्वारा किया गया। उन्होंने कहा कि यह प्रोग्राम काफी महत्वपूर्ण है। उन्होंने विद्यार्थियों से अनुरोध किया कि वह बढ़ चढ़कर हिस्सा लें। इसी तरह डॉ. दिलमोहन शाह ने भी कार्यक्रम के बारे में बताया कि आज गृह विज्ञान कितना रोचक विषय है। इससे कितना ज्ञान वर्धन होता है यह आज इस प्रोग्राम में हम लोगों को पता चला। उन्होंने आगे भी इस तरह का प्रोग्राम जारी रखने का उसने प्रस्ताव रखा। कार्यक्रम में डॉक्टर नरेश कुमार सिन्हा, डॉ आरती रानी साहा, नंदिता ने काफी दिलचस्पी दिखाई और कार्यक्रम में पूरी तरह से मदद की। कार्यक्रम को सफल बनाने में प्रोफेसर अनिल कुमार पटेल तथा प्रोफेसर अविनाश कुमार की भूमिका काफी महत्वपूर्ण रही।

यह कार्यक्रम विद्यार्थियों के लिए उत्साहवर्धक है
डॉक्टर अनिल कुमार पटेल ने कहा पोषण माह के उपलक्ष्य में यह जितने भी कार्यक्रम कराए जा रहे हैं विद्यार्थियों के लिए उत्साहवर्धक है और सभी स्टूडेंट से आग्रह करते हैं कि इसमें पूरी तरह से सभी का सहभागिता लें। यह कार्यक्रम उन्हीं का है उन्हीं के लिए है स्वास्थ्य संबंधित है। इससे वह अपने स्वास्थ्य को अपने परिवार के स्वास्थ्य को व अपने परिजनों का स्वास्थ्य का बेहतर तरीके से देखभाल कर सकते हैं। उन्होंने कहा की छात्राएं कार्यशाला तथा कॉन्फ्रेंस में भाग लें। प्रोफेसर अविनाश कुमार ने इस कार्यक्रम में काफी तकनीकी रूप से सहभागिता दिखाई व आगे इस कार्यक्रम को और भी इंप्रूव्ड फॉर्म में कराने का भरोसा दिलाया।

खबरें और भी हैं...