SP के घर पर छठ का उत्साह मातम में बदला:बेटे का नाम लेकर बार-बार बेहोश हो रही मां, बहनें बदहवास; सदमे में पिता के आंसू सूख गए

पटनाएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
पिता राजेश कुमार के साथ राजवीर शेखर। (फाइल) - Dainik Bhaskar
पिता राजेश कुमार के साथ राजवीर शेखर। (फाइल)

हाजीपुर में NH-22 पर दौलतपुर देवरिया रोड में गुरुवार सुबह मुजफ्फरपुर के सिटी SP राजेश कुमार के पुत्र राजवीर शेखर उर्फ सोनू (19) की सड़क हादसे में मौत हो गई। वहीं, ड्राइवर अंगद कुमार गंभीर रूप से घायल हो गया। इस हादसे के बाद घर में छठ महापर्व पर फैली खुशियां काफूर हो गई। माहौल मातम में बदल गया। IPS राजेश कुमार और उनकी पत्नी रजनी कुमारी को इकलौते बेटे के जाने का ऐसा सदमा लगा है कि पिता के आंखों के आंसू सूख गए हैं तो मां की आंखों से धारा बह रही है। वह बार-बार बेहोश हो जा रहीं हैं।

वहीं, भाई-दूज पर पूजा में चढ़ाए गए नारियल और सुपारी को खिलाने की तैयारी में बैठी दोनों बहनें बदहवास हो गई हैं। भाई के साथ बिताए गए बचपन से लेकर अब तक के पलों को याद कर रोए जा रही हैं। दोपहर में हाजीपुर से पोस्टमॉर्टम कराने के बाद परिवार के लोग राजवीर की डेडबॉडी लेकर पटना के अशोक नगर रोड नंबर 8 स्थित IPS राजेश कुमार के घर पहुंचे। गम के माहौल में महज एक घंटे के अंदर पूरी प्रक्रिया कर अंतिम संस्कार कर दिया गया। चचेरे दादा रामनंदन प्रसाद ने उसे मुखाग्नि दी।

घटना स्थल पर पड़ी कार।
घटना स्थल पर पड़ी कार।

सुबह के अर्घ्य के बाद मिली जानकारी
सिटी SP की मां और राजवीर की दादी पुनिया देवी ने छठ व्रत किया था। नहाए-खाए, खरना और पहला अर्घ्य तक सब कुछ अच्छे से बीता। राजवीर के मामा के मुताबिक, शाम के अर्घ्य के बाद खरना का प्रसाद खाकर राजवीर भागवत नगर के फ्लैट पर केयर टेकर अंगद उर्फ बबलू के साथ चला गया था। वहीं से देर रात 12 बजे के बाद कार से दोनों मुजफ्फरपुर के लिए निकल गए। कोटा की कोचिंग में साथ पढ़ने वाले कुछ दोस्त वहीं रहते हैं। इनकी प्लानिंग सुबह के अर्घ्य के वक्त मुजफ्फरपुर में रहने की थी। वहां जाने की जानकारी परिवार के कुछ सदस्यों को थी, लेकिन हाजीपुर सदर थाना के तहत दौलतपुर गांव के पास रात के 2 बजे के करीब दूसरी गाड़ी की वजह से इनकी कार अनबैलेंस हो गई और पानी से भरे गड्‌ढे में चली गई।

राजवीर और ड्राइवर अंगद दोनों के सिर में चोट लगी। दोनों बेहोश हो गए, पर दो-ढाई घंटे तक पानी के अंदर रहने से राजवीर की मौत हो गई। स्थानीय लोगों को जानकारी मिलने पर अंगद को निकाला गया। उसने ही सारी बात बताई। हादसे के करीब ढाई घंटे बाद सुबह 5 बजे के करीब हाजीपुर सदर थाना को बताया गया। फिर पुलिस एक्टिव हुई।

दूसरी तरफ परिवार के लोग लगातार राजवीर का कॉल भी ट्राई कर रहे थे। नंबर पर रिंग जा रही थी, पर कॉल रिसीव नहीं होने से सभी परेशान थे। सुबह का अर्घ्य देने के बाद 7 बजे के करीब परिवार को राजवीर की मौत की जानकारी मिली।

पटना में वीरान पड़ा मुजफ्फरपुर सिटी SP राजेश कुमार का घर।
पटना में वीरान पड़ा मुजफ्फरपुर सिटी SP राजेश कुमार का घर।

एक महीने के अंदर तीसरा बड़ा हादसा
राजवीर के मामा ने बताया कि राजेश कुमार के परिवार पर संकटों का दौर चल रहा है। पिछले एक महीने में परिवार के तीन लोग हादसे के शिकार हो चुके हैं। जब IPS राजेश कुमार हैदाराबाद में पुलिस के ट्रेनिंग के लिए गए थे तो वो वहां हादसे का शिकार हो गए थे। वहां उनका एक हाथ टूट गया था। कुछ दिनों बाद ही पटना में NH-30 पर राजेश के छोटे भाई और राजवीर के चाचा मुकेश कुमार का एक्सीडेंट हो गया था। हाईवे पर हुआ यह एक्सीडेंट काफी भयानक था। उनकी जान तो बच गई थी, पर एक पैर टूट गया था। इसके बाद अब राजवीर की कार पलट गई, वो हादसे का शिकार हो गया। जिसमें उसकी मौत हो गई।

वैशाली में सड़क हादसे में हुई मौत

नवादा से भी परिजन पटना की ओर निकले
नवादा के मिर्जापुर में राजेश कुमार की नानी का घर हैं। नानी के घर में ही रहकर SP राजेश कुमार ने पढ़ाई-लिखाई की है। राजवीर शेखर की सड़क दुर्घटना में मौत की खबर सुनते ही नानी के घर के सभी परिवार पटना पहुंच गए। राजवीर की दादी मालती देवी ने बताया कि वह काफी हंसता-खेलता लड़का था।

खबरें और भी हैं...