खतरा बरकरार:बेकाबू संक्रमण के बीच रिकवरी रेट में भी सुधार, नए साल में 330 मरीज, 144 स्वस्थ

नवादा6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
अस्पताल में कोरोना संक्रमण की जांच करते स्वास्थकर्मी। - Dainik Bhaskar
अस्पताल में कोरोना संक्रमण की जांच करते स्वास्थकर्मी।
  • जनवरी के 13 दिनों में से 7 दिन के सभी मरीज स्वस्थ, पिछले 6 दिन में आए मरीज ही एक्टिव

संक्रमण के बेकाबू रफ्तार के बीच एक अच्छी बात यह है कि इससे उबरकर हो कर स्वस्थ होने वाले लोगों की भी तादाद बढ़ने लगी है। 14 जनवरी को भी 19 लोगों के स्वस्थ होने की पुष्टि की गई। इससे एक दिन पहले 48 लोग स्वास्थ्य हुए थे। यानी पिछले 48 घंटों में 67 लोग कोरोना से उबर कर स्वस्थ हुए हैं। जनवरी माह के 13 दिन में जितने मरीज आए हैं उनमें से पहले 7 दिन के सारे मरीज स्वस्थ हो चुके हैं। अब पिछले साल 6 दिन में मिले कोविड मरीज ही बचे हैं जिनमें वायरस अभी भी एक्टिव है। राज्य स्वास्थ्य समिति द्वारा जारी अपडेट के अनुसार एक जनवरी से 13 जनवरी तक नवादा जिले में कोरोना के 330 मरीज मिले हैं। इस 13 दिन के दौरान 144 लोग स्वस्थ हुए हैं। जिला स्वास्थ्य समिति के अनुसार भी लगभग 130 लोग स्वस्थ हुए हैं। विभाग के सूत्रों के अनुसार 7- 8 जनवरी तक पॉजिटिव मिले मरीज अब नेगेटिव हो चुके हैं। 8 जनवरी को पाए गए मरीजों भी ज्यादातर में माइल्ड लक्षण हीं है।

नेगेटिव हुए लोगों को भी फिलहाल सावधान रहने की अपील, प्रशासन अलर्ट

सिर्फ 1 मरीज अस्पताल में भर्ती
एक और अच्छी बात यह है कि लोग गंभीर नहीं हो रहे हैं। एक्टिव मरीजों में से भी सिर्फ एक मरीज अस्पताल में जबकि बाकी मरीज होम आइसोलेशन में हीं है। हालांकि इनमें भी गिनती के मरीज ही ऐसे हैं जिनमें कोरोना संक्रमण के ज्यादा लक्षण दिखाए दे रहे हैं। ज्यादातर मरीज ऐसे हैं जिनमें हल्के या न के बराबर लक्षण हैं। सिर्फ संक्रमण की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के कारण ही उन्हे होम आइसोलेशन में रखा गया है।

मेसकौर में कोई मरीज नहीं
नवादा शहर में कोरोना के मामले काफी तेजी से बढ़ रहे हैं लेकिन मेसकौर प्रखंड अभी संक्रमण की चपेट से बाहर है। जिले के 14 में से 13 प्रखंडों में कोरोना फैल चुका हैं। मेसकौर प्रखंड छोड़कर जिले के सभी प्रखंडों में कोरोना के मरीज मिल चुके हैं। लेकिन कोरोना का सबसे ज्यादा प्रभाव नवादा शहर में है। अब तक जिन 300 से अधिक मामलों की पुष्टि हुई है उनमें से 90 से अधिक मरीज नवादा शहर और नवादा सदर प्रखंड के हैं।

जिले में की गईं है व्यापक तैयारियां

कोरोना की तीसरी लहर से निपटने के लिए प्रशासन मुस्तैद है। व्यापक पैमाने पर तैयारियां की गई है। ऑक्सीजन सिलेंडर की संख्या 386 है, ऑक्सीजन बी टाइप ऑक्सीजन सिलेंडर संख्या 1399 है। जिले में वेंटीलेटर्स की संख्या 6 है, जो सभी कार्यरत है। ऑक्सीजन कंसंट्रेटर की संख्या 420 है। इस दौरान एक परेशानी और आ रही है कि जिन की रिपोर्ट एंड डिजाइन जांच में पॉजिटिव आ रही है उनकी आरटीपीसीआर जांच रिपोर्ट नेगेटिव आ रही है।

खबरें और भी हैं...