पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

लेखा-जोखा:राजद प्रत्याशी विभा देवी व जदयू प्रत्याशी कौशल हैं सोने के शौकीन, दोनों के पास 32 लाख के जेवर

नवादा4 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • विभा देवी है करोड़ों की मालकिन लेकिन नहीं है एक भी वाहन

राजद प्रत्याशी विभा देवी व जदयू प्रत्याशी कौशल यादव भले ही राजनीति प्रतिद्वंदी हैं और एक-दूसरे के खिलाफ चुनाव मैदान में हैं,लेकिन दोनों में एक समानता है कि दोनों जेवर के खूब शौकीन हैं और दोनों के पास 32 लाख रुपए की ज्वेलरी है। वहीं विभा देवी के पति व पूर्व मंत्री राजबल्लभ प्रसाद के पास 500 ग्राम सोना व 5 किलो चांदी है। जबकि कौशल यादव की पत्नी यानि गोविंदपुर विधायक पूर्णिमा यादव के पास 47 लाख रुपए का 1.5 किलो सोना है।

कौशल यादव के पास ज्वेरात, नग, वाहन व अन्य डिपोजिट मिलाकर 3 करोड़ 76 लाख 90 हजार 765 रूपए की पूंजी हे। जबकि अचल सम्पति 25 करोड़ 73 लाख 61 हजार 844 रूपए मूल्य की है। वहीं विभा देवी के पास ज्वेरात,नगदी तथा बैंक व अन्य डिपोजिट मिलाकर 17 करोड़ 95 लाख 68 हजार 489 रूपए है। वहीं अचल सम्पति 4 करोड़ 52 लाख तथा पति का 4 करोड़ 33 लाख है। राजद प्रत्याशी विभा देवी करोड़ों रूपए की मालकिन हैं लेकिन इनके पास एक भी वाहन नहीं है। कौशल यादव की योग्यता स्नातकोतर है जबकि विभा देवी साक्षर महिला हैं।

लोजपा प्रत्याशी शशिभूषण हैं वकालत डिग्रीधारी| भाजपा के पूर्व जिलाध्यक्ष शशिभूषण कुमार बबलू की डिग्री विधि स्नातक है। इनके पास काफी कम ज्वेलरी है। इनके द्वारा दिए गए शपथ पत्र के अनुसार मात्र 100 ग्राम सोना है। इनकी पत्नी के पास भी 250 ग्राम ही ज्वेलरी है। इनकी कुल सम्पति 7 करोड़ है।

श्रवण कुशवाहा के नाम है 1 करोड़ 21 लाख का लोन| श्रवण कुशवाहा के पास 300 ग्राम तथा पत्नी के पास 400 ग्राम सोना है। इनके पास 80 लाख 61 हजार की पंूजी है। इनके उपर 1 करोड़ 21 लाख तथा पत्नी के उपर 34 लाख का लोन है। इनकी योग्यता मैट्रिक है।

धीरेन्द्र कुमार सिन्हा के पास महज 60 ग्राम सोना
पिछले विधानसभा के उप चुनाव में हम के उम्मीदवार रहे निर्दलीय प्रत्याशी धीेरेन्द्र कुमार सिन्हा के पास महज 60 ग्राम सोना है। हालांकि ये भी करोड़पति हैं। इनके पास 2 करोड़ की सम्पति है। वहीं पत्नी के जिम्मे 53 लाख 51 हजार रूपए की सम्पति है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज परिवार के साथ किसी धार्मिक स्थल पर जाने का प्रोग्राम बन सकता है। साथ ही आराम तथा आमोद-प्रमोद संबंधी कार्यक्रमों में भी समय व्यतीत होगा। संतान को कोई उपलब्धि मिलने से घर में खुशी भरा माहौल ...

और पढ़ें