पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

लापरवाही:प्रशासनिक आदेश को दरकिनार कर पकरीबरावां व धमौल में खुल रही दुकानें

नवादा10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

डीएम के निर्देश पर पूरे जिले में घोषित लॉकडाउन का पकरीबरावां एवं धमौल बाजार के लोग पूरी तरह अनुपालन नहीं कर रहे हैं। एक ओर जहां दुकानदार बाज नहीं आ रहे हैं, वहीं आमजन भी लापरवाही बरत रहे हैं। इससे न केवल लॉकडाउन की अवहेलना हो रही है, अपितु कोरोना संक्रमण का खतरा भी बढ़ रहा है। जिले में दिन-प्रतिदिन कोरोना के बढ़ते ग्राफ ने जहां जिला प्रशासन की नींद उड़ा रखी है, वहीं पकरीबरावां प्रखंड के लोग भी प्रशासन के लिए परेशानी का सबब बन रहे हैं। आलम यह है कि लोग न तो मास्क का उपयोग कर रहे हैं और न ही सामाजिक दूरी बना रहे हैं, जिससे संक्रमण का खतरा बढ़ गया है। - जिला प्रशासन द्वारा घोषित लॉकडाउन में जरूरी सेवाओं जैसे दवा, राशन, दूध डेयरी, जानवरों के चारा आदि की दुकानों को छोड़ सभी दुकानें रखने के आदेश जारी किए गए। प्रशासनिक आदेश को दरकिनार कर कई दुकानें खोली जा रही है। पकरीबरावां में मिठाई, इलेक्ट्रॉनिक, कपड़ा आदि की दुकानें खोली जा रही है। वहीं, धमौल बाजार भी इससे अछूता नहीं है। यहां भी इलेक्ट्रॉनिक, कपड़ा, खैनी-गुटका आदि की दुकानें खोली जा रही है। हालांकि बीच-बीच में प्रशासनिक पदाधिकारी बाजार आकर लॉकडाउन का अनुपालन कराते दिखे, परंतु प्रशासन के जाते ही दुकानदार दुबारा वहीं काम करते हैं। बुद्धिजीवियों की माने तो इन दुकानदारों को पुलिस-प्रशासन का कोई भय नहीं रहा। जब तक पुलिस-प्रशासन ऐसे लोगों के विरुद्ध कोई ठोस कार्रवाई नहीं करती, लोग नहीं मानेंगे। बुद्धिजीवियों ने प्रशासन से ऐसे दुकानदारों के विरुद्ध कठोर कार्रवाई की मांग की है ताकि लोगों में प्रशासन का भय बना रहे और लॉकडाउन का अक्षरशः पालन हो। इधर, सीओ सुक्रान्त राहुल ने बताया कि शिकायत मिली है। जो दुकानदार लॉकडाउन एवं सामाजिक दूरी का पालन नहीं करते हैं, वैसे दुकानों को सील किया जाएगा।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव - आज की स्थिति कुछ अनुकूल रहेगी। संतान से संबंधित कोई शुभ सूचना मिलने से मन प्रसन्न रहेगा। धार्मिक गतिविधियों में समय व्यतीत करने से मानसिक शांति भी बनी रहेगी। नेगेटिव- धन संबंधी किसी भी प्रक...

    और पढ़ें