परिचर्चा:छात्रों ने कहा-पढ़ाई में सहायक सिद्ध हुआ मेरा दूरदर्शन, मेरा विद्यालय”

नवादा12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • कोरोना संकट के दौरान हुई छात्रों की मनः स्थिति पर परिचर्चा

बिहार शिक्षा परियोजना परिषद् के निर्देश पर नगर स्थित गांधी इंटर विद्यालय में कोरोना संकट के दौरान विद्यार्थियों के अंदर उपजे नकारात्मक और सकारात्मक विचारों के विषय पर शिक्षकों और छात्रों के बीच परिचर्चा आयोजित की गई। प्राचार्य अफ़ज़ल सआदत हुसैन की अध्यक्षता में आयोजित इस कार्यक्रम में कई छात्रों ने कोरोना संकट और लॉकडाउन के दौरान अपने मानसिक स्थिति और उससे उबरने में परिवार और समाज के योगदान के बारे में अपने अनुभवों को साझा किया। छात्र लव कुमार, सिद्धार्थ कुमार और छात्रा तान्या तनु ने पेंटिंग के माध्यम से अपने विचारों को व्यक्त किया। छात्र रौशन कुमार, मंजीत कुमार, अवध चौहान, आशीष कुमार, सौरभ कुमार और कृष्णा कुमार ने बताया कि कैसे उन्होंने व्यायाम, योग, स्वाध्याय, चित्रकारी, इंडोर खेलों और कविता लेखन और साफ सफाई जैसी गतिविधियों के द्वारा अपने सकारात्मक सोच और ऊर्जा को बनाए रखा। छात्रों ने बताया कि लॉकडाउन के दौरान उन्हें परिवार के साथ बेहद मूल्यवान समय बिताने का मौका मिला। घर के बड़े - बुजुर्गों से पौराणिक कथाएं सुनने और जीवन की मुश्किलों से लड़ने का हौसला मिला। ज्ञात हो कि विद्यालयों में संबंधित विषय को लेकर 4 से 10 अक्टूबर तक मानसिक स्वास्थ्य सप्ताह मनोदर्पण नाम से मनाया जा रहा है जिसमे छात्र कोरोना संकट से उपजे अपने मानसिक विचारों के सकारात्मक और नकारात्मक पहलुओं को कला और परिचर्चा के माध्यम से व्यक्त कर रहे हैं। इस कार्यक्रम के सफल संचालन में शिक्षक सुबोध कुमार, रेणु सिन्हा, संगीता कुमारी, दरख्शां और सुनील कुमार सिन्हा ने सक्रिय योगदान दिया।

खबरें और भी हैं...