सावधानी जरूरी:ओमिक्रोन के खतरे ने बढ़ाई जिले में सख्ती मास्क का उपयोग व वक्सीनेशन अनिवार्य

नवादा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कोरोना को लेकर दुकानदारों को निर्देश देते अधिकारी। - Dainik Bhaskar
कोरोना को लेकर दुकानदारों को निर्देश देते अधिकारी।
  • छह महीना बाद फिर शुरू हुआ सघन मास्क चेकिंग अभियान

कोरोना वायरस के नए वेरिएंट ओमिक्रोन के बढ़ते खतरे ने एक बार फिर लोगों को सकते में ला दिया है। कोरोना से बेखबर होकर घूम रहे जिले वासियों को फिर से शत प्रतिशत मास्क पहनना होगा। करीब 6 महीने बाद जिले में फिर से सघन मास्क चेकिंग अभियान शुरू हो गया है । ओमी एलक्रोन की दस्तक के बाद देशभर में वायरस की रोकथाम के लिए जारी गाइडलाइन जिले में भी जारी हो गई है। जारी निर्देश के मुताबिक सोमवार से ही जिले के सभी प्रखंडों में अधिकारी चौक चौराहे पर मास्क चेकिंग में लगे हैं।

दुकानदारों को सख्त हिदायत दी गई है। सभी विभागीय कार्यालयों में अधिकारी और कर्मचारी मास्क लगाकर लोगों को भी मास्क लगाने के लिए प्रेरित कर रहे हैं। हालांकि जिले में फिलहाल कोरोना वायरस मरीज नहीं है लेकिन यही स्थिति बनी रहे इसके लिए सजग रहना जरूरी है। इधर जिले में कोरोना टीकाकरण को मुकम्मल कराने के लिए प्रशासन जी तोड़ मेहनत कर रहा है। वैक्सीन की दूसरी डोज दिलाने के लिए लोगों को दिन भर में दो दो फोन आ रहे हैं। इसका आउटपुट में मिल रहा है और बड़ी संख्या में लोग दूसरी डोस लेने पहुंच रहे हैं।

प्रशासन ने जारी किए कड़े निर्देश
दुकानों और प्रतिष्ठानों में सभी के लिए हमेशा मास्क पहनना अनिवार्य कर दिया है। काउंटर पर दुकानदार द्वारा कर्मियों एवं अन्य आगंतुकों के इस्तेमाल के लिए सैनिटाइजर की व्यवस्था करने का निर्देश दिया है। दुकानों और प्रतिष्ठानों में केवल कोविड टीका लेने वालों को ही काम करने की अनुमति दी जाएगी। बिना मास्क वालों की दुकान में एंट्री बंद करें। दुकानदार बिना मास्क वालों की एंट्री बंद कर दें। दुकान के बाहर सैनिटाइजर की व्यवस्था करें। बड़ी दुकानों और शोरूम में गार्ड की व्यवस्था करें, जो मास्क लगाकर ही प्रवेश कराए। हाथों को सैनिटाइज करें। दुकान में भीड़ नहीं लगाएं। सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें।

बीते 43 दिनों से कोई नया मामला नहीं
जिले में में बीते डेढ़ महीने में कोरोना के कोई नए मामले नहीं आए हैं। इससे पहले 27 अक्टूबर को जिले में एक एक मामला सामने आया था । अब जिला में कोरोना का कोई मरीज नहीं है। अब तक जिले में कुल 10353 लोगों को कोरोना संक्रमण हुआ है। इनमें 10098 लोग ठीक हुए हैं, जबकि 255 लोगों की जान गई है।

अबतक 100 से अधिक लोग विदेश से लौटे
विदेशों में वायरस के नए स्ट्रेन के बढ़ते प्रभाव के कारण विदेश में रह रहे लोगों में दहशत का माहौल है। बड़े पैमाने पर लोग घर वापस हो रहे हैं। हर दिन विदेशों में काम करने वाले पढ़ाई करने वाले या व्यवसाय करने वाले कोई ना कोई प्रवासी नवादा लौट रहे हैं। अब तक करीब 100 से अधिक लोग विदेश से लौट चुके हैं। राज्य सरकार ने जिला स्वास्थ्य विभाग को इसकी सूची सौंपी है। इसी सूची के आधार पर लोगों को ट्रेस किया जा रहा है। अब तक करीब 50 से अधिक लोगों की कोरोना जांच की जा चुकी है। कई लोगों का अब भी पता नहीं चल पाया है।

कई संसाधनों की कमी, इसलिए सतर्क रहना ही बेहतर दवा
कोरोना के नए वेरिएंट से निपटने के लिए जांच से लेकर आपातकालीन स्थिति में जीवन रक्षक संसाधनों की कमी अब भी बनी हुई है । जिले में एक ही आरटीपीसीआर मशीन है। आरटीपीसीआर मशीन की कमी से जांच प्रभावित होगी। कोरोना की दूसरी लहर के दौरान देशभर में सबसे ज्यादा किल्लत ऑक्सीजन की हुई थी। कमोबेश नवादा में भी लोगों को परेशानी झेलनी पड़ी। इसलिए सरकार और अधिकारियों का ध्यान इसी पर सबसे ज्यादा है लेकिन इसके बावजूद जिले में ऑक्सीजन आपूर्ति को लेकर तैयारियां अभी अधूरी ही हैं। ऐसे में परेशानी ना हो इसलिए सतर्क रहना ही जरूरी है।

खबरें और भी हैं...