परेशानी:बकाया राशि के लिए चक्कर लगा रहे हैं विकास मित्र

नवादा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

नगर निगम में वर्ष 2012 से विकास मित्र द्वारा किए गए विभिन्न कार्यो के प्रोत्साहन राशि का भुगतान नहीं किया गया है। जिसके कारण विभाग के प्रति विकास मित्रों में आक्रोश है। जिला समन्वयक गौतम प्रकाश ने बताया कि 2012 से अब तक शौचालय निर्माण, पशुगणना, बायोमेट्रिक कार्य, एनआरपी जैसी कई गतिविधियों में विकास मित्र को लगाया गया था और प्रोत्साहन राशि देने की बात कही गई थी। लेकिन आज तक एक भी योजना की प्रोत्साहन राशि का भुगतान नहीं किया गया है। इसके लिए कई बार उप विकास आयुक्त से मुलाकात भी की लेकिन अब तक कोई निर्णय नहीं लिया गया है।

उन्होंने बताया कि नगर निगम में कुल 34 विकास मित्र कार्यरत है। वर्ष 2012 में शौचालय निर्माण के लिए 100 रुपया प्रति युनिट, पशुगणना में भी प्रोत्साहन राशि निर्धारित की गई थी। 2013 में बायोमेट्रिक कार्य के लिए प्रत्येक बुकलेट पर 100 रुपया, एनआरपी के लिए प्रति बुकलेट 1750 रुपया निर्धारित किया गया था । जिसमें मात्र 1500 रुपया प्रति बुलेट भुगतान किया गया। 2020 में भी आपदा के तहत कोविड में 2 महीना काम कराया गया। प्रति दिन 350 रुपया प्रोत्साहन राशि देने की बात कही गई थी। लेकिन अभी तक भुगतान नहीं हुआ है। उन्होंने कहा कि शौचालय निर्माण में प्रति विकास मित्र 40-45 हजार और पशुगणना का करीब 10 हजार प्रति विकास मित्र बकाया है। उपनगर आयुक्त विनोद कुमार रजक ने कहा कि इस मामले में कई बार जिला समन्वयक से मौखिक बात हुई है। इस आलोक में दस्तावेज भी जमा करने की बात कही गई थी। ताकि पता चल सके कि किन अधिकारी द्वारा निर्देश दिया गया था।

खबरें और भी हैं...