पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

चिंता सता रही:पटना में मिले 1205 संक्रमित, ईएसआई बिहटा बनेगा 500 बेड का कोरोना डेडिकेटेड अस्पताल

पटना22 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • लगातार चौथे दिन एक हजार से ज्यादा मरीज मिले, पटना मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य भी संक्रमित
  • अब 7557 एक्टिव मरीज, कंकड़बाग में 50 नए केस

कोरोना संक्रमण के मामले में राजधानी पटना लगातार राज्य में टॉप पर बना हुआ है। पटना जिले में मंगलवार को लगातार चौथे दिन एक हजार से ज्यादा मरीज मिले हैं। मंगलवार को 1205 नए संक्रमित मिले हैं। इसके साथ ही यहां एक्टिव मरीजों की संख्या 7557 पर पहुंच गई है। मंगलवार को आईएएस अफसर समेत 14 लोगों की कोरोना के कारण मौत हुई है। पंचायती राज विभाग के निदेशक आईएएस अफसर विजय रंजन की तबीयत बिगड़ने पर पटना एम्स में भर्ती कराया गया था, जहां उनका निधन हो गया। वहीं वैशाली जिले में कार्यरत जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉ. ललन कुमार राय की भी मौत मंगलवार की शाम पटना एम्स में हो गई। डॉ. राय पिछले शुक्रवार को पॉजिटिव पाए गए थे।

तबीयत बिगड़ने पर 9 अप्रैल को उन्हें एम्स में भर्ती कराया गया था। जानकारी के अनुसार मंगलवार को पीएमसीएच में 7, एनएमसीएच में 4 और एम्स में 3 कोरोना मरीजाें की मौत हो गई। पीएमसीएच में फिलहाल 88 लोगों का इलाज फिलहाल चल रहा है। राजधानी में कंकड़बाग का इलाका सबसे अधिक संक्रमित इलाकों में है। यहां मरीजों की संख्या 300 के करीब तक पहुंच गई है। मंगलवार को यहां 50 नए मरीज मिले हैं। राजधानी पटना में 10 अप्रैल की बाद से लगातार एक हजार से अधिक नए कोरोना संक्रमित मरीज मिल रहे हैं। एनएमसीएच में मंगलवार को पांच मरीज भर्ती हुए। वहीं नौ मरीजों काे ठीक होने पर छुट्टी दी गई। अभी यहां 95 मरीजों का इलाज चल रहा है। एक मरीज वेंटिलेटर और 34 ऑक्सीजन पर हैं। आईसीयू में चार मरीज भर्ती हैं। चार मरीजाें बेगूसराय के शिवदेव सिंह, नवादा के चंद्रा सिंह, सीवान के नागेंद्र साह और नालंदा की फुलबासो देवी की मौत हो गई। पटना मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य डॉ. विद्यापति चौधरी के साथ ही एनएमसीएच के नेत्र व निश्चेतना विभाग के हेड और माइक्रोबॉयोलॉजी विभाग के एक टेक्नीशियन संक्रमित पाए गए हैं। जिले में मंगलवार को 27 माइक्राे कंटेनमेंट जोन बढ़ाए गए हैं। इसके साथ ही माइक्राे कंटेनमेंट जोन की संख्या 316 हो गई है। दानापुर अनुमंडल में 26, पटना सिटी अनुमंडल में 13, मसौढ़ी अनुमंडल में 43, पालीगंज अनुमंडल में 9, बाढ़ अनुमंडल में 54 और पटना सदर अनुमंडल में 171 कंटेनमेंट जोन हैं।

राजधानी के सरकारी अस्पतालों में बढ़े 130 बेड

पटना जिले के सरकारी अस्पतालों में काेराेना मरीजाें के लिए 180 बेड बढ़ाए गए हैं। पीएमसीएच में 50, एनएमसीएच में 50 और एम्स में 30 बेड बढ़ाए गए हैं। इसके अलावा नेताजी सुभाष चंद्र बोस मेडिकल कॉलेज बिहटा में 50 बेड रिजर्व किए गए हैं। डीएम डॉ. चंद्रशेखर सिंह ने कहा कि बुधवार से सरकारी अस्पतालों में कोरोना मरीजों को आवश्यकता के अनुसार भर्ती कराया जाएगा। इसके अलावा ईएसआई बिहटा में वर्तमान समय में 50 बेड उपलब्ध हैं। यहां 8 मरीज भर्ती हैं। यहां 500 बेड उपलब्ध हैं। इसको काेराेना डेडिकेटेड अस्पताल बनाने की तैयारी चल रही है। ईएसआई प्रबंधन ने मैनपावर की मांग की है। विभाग के स्तर से कार्रवाई चल रही है।

तीन नए निजी अस्पतालों में रिजर्व किए गए बेड

प्रमंडलीय आयुक्त संजय कुमार अग्रवाल ने कहा कि तीन और निजी अस्पतालों हिमालयन हॉस्पिटल कंकड़बाग में 15, एशियन हॉस्पिटल में 25 और आर्टिश हॉस्पिटल बाइपास में 10 बेड रिजर्व किए गए हैं। प्लाज्मा डोनेट करने वाले योद्धाओं को सम्मानित किया जाएगा। पटना प्रमंडल के सभी डीएम को प्लाज्मा सेल गठित कर प्लाज्मा डोनेट करने के कार्य में प्रगति लाने का निर्देश दिया गया है। पटना प्रमंडल के छह जिलों में 1160283 लोगों का वैक्सीनेशन हुआ है। पटना जिले में 3 लाख 37 हजार 720 लोगों का टीकाकरण किया गया है।

एनएमसीएच में भर्ती होने से पहले ही मरीज की मौत

एनएमसीएच में भर्ती होने आए लखीसराय के 60 वर्षीय कोरोना संक्रमित की भर्ती होने के पहले ही मौत हो गई। उसके परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल है। परिजनों ने कहा कि अगर समय से भर्ती कर इलाज किया जाता तो शायद उसकी जान बच सकती थी। उसी समय स्वास्थ्य मंत्री एनएमसीएच में निरीक्षण करने पहुंचे थे। इधर, अस्पताल प्रशासन का कहना है कि मरीज को भर्ती करने की प्रक्रिया की जा रही थी।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- दिन सामान्य ही व्यतीत होगा। कोई भी काम करने से पहले उसके बारे में गहराई से जानकारी अवश्य लें। मुश्किल समय में किसी प्रभावशाली व्यक्ति की सलाह तथा सहयोग भी मिलेगा। समाज सेवी संस्थाओं के प्रति ...

    और पढ़ें