कोरोना इफेक्ट / बिहार में तटबंध मरम्मत के 122 काम ठप, 704 करोड़ की योजनाएं अटकीं

122 works of embankment repair in Bihar stalled, plans for 704 crores stuck
X
122 works of embankment repair in Bihar stalled, plans for 704 crores stuck

  • जल संसाधन विभाग ने इन योजनाओं के पूरा होने के लिए 15 मई की समय सीमा तय की थी

दैनिक भास्कर

Mar 26, 2020, 07:40 PM IST

पटना. कोरोना के कारण बाढ़ पूर्व की योजनाएं भी प्रभावित होने लगी हैं। लगभग सारे स्थानों पर ये कार्य ठप हो गए हैं। यहां तक कि संवेदनशील तटबंधों की मरम्मत भी रुक गयी है। इनमें से अधिसंख्य योजनाओं पर काम काफी आगे बढ़ चुका था। कई योजनाएं तो पूरी होने वाली थी। लेकिन काम लटक जाने के बाद सरकार की परेशानी बढ़ गयी है। जल संसाधन विभाग ने इन योजनाओं के पूरा होने के लिए 15 मई की समय सीमा तय की थी। मौजूदा परिस्थिति देखने के बाद इनके 15 मई तक खत्म होना संभव नहीं लग रहा है। हालांकि विभाग का मानना है कि सारी योजनाएं समय पर पूरी कर ली जाएंगी। यदि किसी कारणवश इस अवधि में काम खत्म नहीं हो पाता है तो आगे 10-15 जून तक काम खत्म करने के लिए अवधि बढ़ायी जा सकती है। बिहार में मानसून अमूमन 15 जून के बाद ही प्रवेश करता है। इधर कुछ वर्षों में तो यह अवधि 20-25 जून तक पहुंच गयी है। लिहाजा 15 जून तक भी काम खत्म हो जाए तो परेशानी नहीं होगी।

जल संसाधन विभाग ने 21 नवंबर 2019 को बिहार स्टेट फ्लड कंट्रोल बोर्ड की 57 वीं बैठक में 122 योजनाओं को मंजूरी दी थी। जल संसाधन मंत्री संजय कुमार झा की अध्यक्षता में हुई इस बैठक में यह तय किया गया था कि सारी योजनाएं 15 मई तक अवश्य पूरी कर ली जाएं। इन योजनाओं के लिए 704.17 करोड़ रुपए की भी मंजूरी दी गयी थी। इनमें नेपाल प्रक्षेत्र में होने वाली 71.24 करोड़ की 21 योजनाएं भी शामिल की गयी थी। इसके अलावा केन्द्र और राज्य सरकार की 440 करोड़ की 6 संयुक्त परियोजनाएं भी स्वीकृत की गयी थी। इन सबके लिए व्यापक कार्ययोजना बनायी गयी थी। इन्ही योजनाओं में गत वर्ष टूटे तटबंधों को और मजबूत बनाने का काम भी शामिल किया गया था। इसके अलावा क्षेत्रों से आई संवेदनशील स्थानों को दुरुस्त करने की योजनाओं को भी मंजूरी दी गयी थी। एेसे विभाग का दावा है कि मानसून आने के पहले बाढ़ पूर्व की सारी योजनाएं पूरी कर ली जाएंगी।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना