• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Patna
  • 20 Years Imprisonment To 3 Including 2 Women Who Sold The Girl To The Woman; Teenager Was Recovered In The 'bazaar' Of Floods

33 महीने बाद मिला न्याय:लड़की को बेच जिस्मफरोशी कराने वाली 2 महिला समेत 3 को 20 साल की कैद; बाढ़ के ‘बाजार’ में बरामद की गई थी किशोरी

पटना2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
अपहरण कर आरा में 15 साल की लड़की को बेचने वाले बेल पर थे। -फाइल फोटो - Dainik Bhaskar
अपहरण कर आरा में 15 साल की लड़की को बेचने वाले बेल पर थे। -फाइल फोटो

पटना सिविल कोर्ट स्थित पॉक्सो एक्ट के विशेष न्यायाधीश अवधेश कुमार की अदालत ने नाबालिग के अपहरण और उससे वेश्यावृत्ति कराने के आरोप में दो महिला समेत तीन लोगों को 20-20 वर्षों के सश्रम कारावास की सजा के साथ जुर्माना भी किया। विशेष अदालत में मामले की सुनवाई के बाद पटना जिले के बाढ़ थाना क्षेत्र स्थित सलेमपुर मोहल्ले में एक वेश्यालय की संचालिका उषा देवी और भोजपुर जिले के नगर थाना क्षेत्र निवासी नीलम देवी एवं संजय कुमार को पॉक्सो अधिनियम, भादवि और अनैतिक अनाचार अधिनियम की विभिन्न धाराओं में दोषी करार देने के बाद यह सजा सुनाई है।

संजय कुमार को 23 हजार रुपए, उषा देवी को कुल 10 हजार, नीलम देवी को 13 हजार का जुर्माना भी किया। जुर्माने की राशि अदा नहीं करने पर दोषियों को एक वर्ष की साधारण कारावास की सजा अलग से भुगतनी होगी। जुर्माने की राशि वसूल होने पर पीड़िता को दी जाएगी। इसके अलावा अदालत ने पीड़िता को एक माह के अंदर कुल 10.5 लाख रुपए मुआवजा देने का आदेश भी सरकार को दिया है।

कोठे पर छापेमारी के समय ही इन दोषियों को गिरफ्तार किया गया था
विशेष लोक अभियोजक सुरेश चंद्र प्रसाद ने बताया कि वर्ष 2018 में बिहार के एक जिले के सुदूरवर्ती गांव से एक नाबालिग बच्ची का अपहरण कर लिया गया था और उससे जबरन वेश्यावृत्ति कराई जाती थी। वेश्यावृत्ति के विभिन्न ठिकानों पर उसे बेचा गया और बाद में गुप्त सूचना के आधार पर बाढ़ अनुमंडल की तत्कालीन अपर आरक्षी अधीक्षक ने दोषी उषा देवी के कोठे पर छापेमारी कर उक्त नाबालिग को मुक्त कराया गया था। साथ ही कोठे से ही दोषी को गिरफ्तार किया गया था। इस संबंध में बाढ़ थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई गई थी।

खबरें और भी हैं...