बिहार में 24 घंटे में 33 लोगों की मौत:प्री-मानसून की पहली बारिश ने भागलपुर और मुजफ्फरपुर सहित 16 जिलों में मचाई तबाही

पटना3 महीने पहले

प्री-मानसून की पहली बारिश और वज्रपात (आसमानी बिजली) बिहार में कहर बनकर बरपा है। 24 घंटे में सिर्फ कुछ देर की बारिश और आंधी में बिहार के 16 जिलों में 33 लोगों की मौत हो गई है। CM नीतीश कुमार ने मृतकों के परिजनों को तत्काल चार-चार लाख रुपए की मदद देने के निर्देश दिए हैं।

पोल में हिस्सा लेकर अपनी राय दे सकते हैं...

इसके साथ ही CM ने आंधी-वज्रपात से घरों और फसलों को हुए नुकसान का आंकलन कर प्रभावित परिवारों को जल्द से जल्द सहायता राशि उपलब्ध कराने का आदेश दिया है। उन्होंने कहा कि आपदा की इस घड़ी में वे प्रभावित परिवारों के साथ हैं।

गोपालगंज में तेज हवा के साथ चली थी आंधी।
गोपालगंज में तेज हवा के साथ चली थी आंधी।

CM की अपील-खराब मौसम में घर से न निकलें
इसके साथ ही CM ने अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि आंधी के कारण पेड़ गिरने से कहीं आवागमन बाधित हुआ है तो उसे तुरंत शुरू करवाएं। CM ने लोगों से अपील की है कि सभी लोग खराब मौसम में पूरी सतर्कता बरतें। खराब मौसम होने पर वज्रपात से बचाव के लिये आपदा प्रबंधन विभाग के निर्देशों का पालन करें। खराब मौसम में घरों में रहें और सुरक्षित रहें।

सबसे ज्यादा भागलपुर में 7 मौत हुई है

आंधी और वज्रपात से भागलपुर में 7, मुजफ्फरपुर में 6, सारण में 3, में लखीसराय में 3, मुंगेर में 2 लोगों की मौत हुई है। इसके साथ ही समस्तीपुर में 2, जहानाबाद में 1, खगड़िया में 1, नालंदा में 1, और पूर्णिया में 1 मौत हुई है। बांका में 1, बेगूसराय में 1, अररिया में 1, जमुई में 1, कटिहार में 1 और दरभंगा में 1 व्यक्ति की मौत हुई है।

रायपुर में पेड़ गिरने से रास्ता कुछ देर के लिए जाम हो गया।
रायपुर में पेड़ गिरने से रास्ता कुछ देर के लिए जाम हो गया।