पटना में क्रिकेट के पालनहार ललन मेहता का निधन:62 साल की उम्र में ली अंतिम सांसें, क्रिकेट और खिलाड़ियों को देते थे बढ़ावा

पटना3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

पटना सिटी में क्रिकेट और खिलाड़ियों को पोषित और पालन करने वाले विराट व्यक्तित्व के 62 साल के ललन मेहता का देहांत हो गया। उन्होंने पटना के नालंदा मेडिकल कॉलेज अस्पताल में अपनी अंतिम सांसे ली। पटना सिटी के खाजेकला घाट पर उनका अंतिम संस्कार किया गया, उनके बड़े पुत्र सनी कुमार ने उन्हें मुखाग्नि दी।

ललन मेहता ने 80 और 90 के दशक में पटना सिटी में क्रिकेट को खूब बढ़ावा दिया था। उन्होंने धन के अभाव में भी क्रिकेट की नर्सरी को अपने मनोबल के बलबूते आगे बढ़ाया। तन मन धन से खेल की सेवा की जिसके परिणाम स्वरुप पटना सिटी के कई नामचीन क्रिकेट खिलाड़ी भी राज्य और स्थानीय स्तर पर चमके। ललन मेहता ने क्रिकेट में अपना सब कुछ निछावर कर दिया। यहां तक कि उन्होंने कठिन परिश्रम से हासिल की कमाई को भी खिलाड़ियों के लिए गेंद, बल्ला का इंतजाम करने में लगा दिया।

उनके निधन से क्रिकेट जगत में शोक की लहर है। प्रमुख समाजसेवी बलराम चौधरी, जावेद अहमद, क्रिकेट प्रशासक अजय नारायण शर्मा , सिराजुल, पूर्व क्रिकेट खिलाड़ी - अली राशिद , हरप्रीत सिंह टीटू , शान अली , राणा राज समेत विभिन्न लोगों ने ललन मेहता के निधन पर शोक व्यक्त किया है, और उन्हें भावभीनी श्रद्धांजलि दी है।

खबरें और भी हैं...