पटना एयरपाेर्ट के न्यू टर्मिनल भवन:एयरपोर्ट पर हादसे की जांच करेगी चार एक्सपर्ट की टीम

पटना4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
हादसे की जांच के लिए एयरपाेर्ट अथाॅरिटी ऑफ इंडिया ने चार एक्सपर्ट मेंबर की टीम गठित की है। - Dainik Bhaskar
हादसे की जांच के लिए एयरपाेर्ट अथाॅरिटी ऑफ इंडिया ने चार एक्सपर्ट मेंबर की टीम गठित की है।

पटना एयरपाेर्ट के न्यू टर्मिनल भवन के फ्लाईओवर यानी एलिवेटेड का बीम बांधने के दाैरान हुए हादसे की जांच के लिए एयरपाेर्ट अथाॅरिटी ऑफ इंडिया ने चार एक्सपर्ट मेंबर की टीम गठित की है। इनमें एक भवन बना रही एनसीसी कंपनी के इंजीनियर, एक अथाॅरिटी के और दाे अन्य हैं। जीएम इंजीनियरिंग प्रोजेक्ट केएस विजयन ने कहा कि साेमवार काे भी घटनास्थल का निरीक्षण किया गया था।

प्रथमदृष्टया पाया गया कि जैक स्लिप कर गया जिससे भारी भरकम बीम छिटक गया और उसके नीचे तीन मजदूर दब गए। चार सदस्यीय टीम काे एक सप्ताह के अंदर रिपाेर्ट देनी है। फिलहाल जहां हादसा हुआ है, वहां काम शुरू नहीं किया गया है जबकि अन्य स्थानाें पर काम चल रहा है। रिपाेर्ट आने के बाद फिर वहां पर काम शुरू हाेगा जहां शनिवार काे हादसा हुआ था।

इस हादसे में जहानाबाद के गिदरपुर के रहने वाले दाे मजदूराें राकेश और राजन की माैत हाे गई थी जबकि उसी गांव का अजय घायल हाे गया था। कंपनी काे मुआवजा देने का आदेश दे दिया गया है। जिला प्रशासन की ओर से जिला श्रम अधीक्षक की टीम काे एयरपाेर्ट भेजा गया था।

डीएम डाॅ. चंद्रशेखर सिंह ने बताया कि टीम काे जांच के लिए नहीं बल्कि यह देखने के लिए भेजा गया था कि वह सुरक्षा के सभी प्रबंध हैं या नहीं। सुरक्षा के मानकाें का पालन किया जा रहा है या नहीं। श्रम अधीक्षक एक-दाे दिन में इन सारी बाताें की रिपाेर्ट देंगे।

मृत मजदूरों के परिजनों को मिलेंगे 21-21 लाख

श्रम संसाधन मंत्री जिवेश कुमार ने कहा कि पटना एयरपाेर्ट के भवन निर्माण में मजदूरों की मौत के मामले की जांच की जा रही है। दोषियों पर कार्रवाई होगी। निर्माण एजेंसी द्वारा आईजीआईएमएस में पोस्टमार्टम के बाद दोनों मृतकों के शव को उनके गृह जिला एंबुलेंस से भेजा गया। कामगारों के परिवार को अंतिम संस्कार के लिए तत्काल प्रति व्यक्ति डेढ़ लाख रुपए प्रति व्यक्ति की दर से आर्थिक सहायता, 10 हजार रुपए रास्ते का खर्च और 7 हजार रुपए एंबुलेंस का किराया दिया गया।

वर्कमेन कंपनसेशन एक्ट के तहत उप श्रम आयुक्त द्वारा मृतक कौशल कुमार के आश्रित को 21 लाख 34 हजार रुपए और राकेश कुमार के परिजनों को 20 लाख 54 हजार रुपए की राशि भुगतान का निर्देश नियोजक को दिया गया है। बिहार शताब्दी असंगठित कामगार एवं शिल्पकार सामाजिक सुरक्षा योजना के तहत मृतक कामगार के परिजन मृत्यु लाख अनुदान के लिए आच्छादित नहीं होंगे।

खबरें और भी हैं...