पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Patna
  • Aadhar Card Introduced Estranged Women To Family, Kallem Lakshmi Of Andhra Pradesh Had Been Living In Aasra Home Patna For 9 Years

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कहानी फिल्मी नहीं, सच्ची है:9 साल पहले भटक कर बिहार आई, भाषा ऐसी कि कोई समझ नहीं पाता था, अचानक AADHAAR ने दुनिया ही बदल दी

पटना10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
काल्लेम लक्ष्मी क्रीम कलर के सूट और बैंगनी दुपट्‌टे में। - Dainik Bhaskar
काल्लेम लक्ष्मी क्रीम कलर के सूट और बैंगनी दुपट्‌टे में।

आधार कार्ड हर किसी के लिए कितना जरूरी है, यह गुरुवार को साबित हो गया। इसे समझने के लिए पहले आप एक घटनाक्रम पर नजर डालें। एक अर्धविक्षिप्त महिला भटकती-भटकती बिहार आती है। बिहार सरकार के पटना स्थित महिला गृह में 3 साल रहती है। अपना नाम भी नहीं बता पाती है। अलग ही भाषा में कुछ बुदबुदाती रहती है। पुकारने के लिए उसे काल्पनिक नाम दिया जाता है- 'काजल'। 6 साल पहले 2015 में उसे JM इंस्टिट्यूट ऑफ स्पीच एंड हेयरिंग (आसरा होम) पटना स्थानांतरित कर दिया जाता है। यहां भी वह लंबे समय तक रहती है, लेकिन उसकी भाषा कोई नहीं समझ पाता। कुछ दिन पहले राज्यभर के महिला एवं बाल गृहों में आधार पंजीकरण कैंप लगा। समाज कल्याण विभाग, बिहार एवं भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण, पटना कार्यालय के संयुक्त प्रयास से यह काम शुरू हुआ। आधार बनने के पहले होने वाली डी-डुप्लीकेशन प्रक्रिया के दौरान उसका आधार पंजीकरण निरस्त हो गया।

कहानी अभी जारी है....
JM आसरा होम की अधीक्षिका रीमा यादव ने उसके आधार पंजीकरण निरस्त होने की जानकारी भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण के पटना कार्यालय को दी। भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण के द्वारा छानबीन में पता चला कि काजल का आधार पूर्व में ही बन चुका है, इसीलिए इसका आवेदन निरस्त हो गया है। तब उसके ई-आधार कार्ड को डाउनलोड किया गया। पता चला कि जिस महिला को अब तक 'काजल' नाम से पुकारा जा रहा था, वह ‘काल्लेम लक्ष्मी’ है। उसका आधार 2011 में ही बना और वह निजामाबाद, आंध्र प्रदेश की रहने वाली है।

9 साल बाद परिवार से मिल पाई
आधार से पहचान होने के बाद आसरा होम की तरफ से आंध्र प्रदेश पुलिस को सूचना दी गई। फिर वहां की पुलिस सहायता से महिला के परिवार को ढूंढा गया और गुरुवार को काल्लेम लक्ष्मी के पति एवं परिजन उसे कागजी कार्रवाई के बाद अपने साथ ले गए। उन्होंने बताया कि लक्ष्मी लगभग 9 वर्षों से लापता थी। उन लोगों ने आशा छोड़ दी थी, लेकिन आधार ने उनके जीवन एवं परिवार को फिर से संवार दिया।

JM आसरा गृह की अधीक्षिका ने अपने आसरा गृह की प्रेसिडेंट डॉ मनीषा कुमारी, समाज कल्याण विभाग के निदेशक राज कुमार, भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण के सहायक महानिदेशक राजेश कुमार सिंह और सहायक परियोजना प्रबंधक प्रभात कुमार का आभार व्यक्त किया। प्राधिकरण के पदाधिकारी प्रभात कुमार ने बताया कि अगर सभी निवासियों का आधार बन जाए तो हरेक बिछड़े व्यक्ति को उसके परिवार से फिर से मिलाया जा सकता है। हमें सामाजिक जिम्मेदारी के तौर पर अपने आसपास के विशेष रूप से सक्षम एवं दिव्यांगजनों का आधार तो निश्चित रूप से बनवाना चाहिए।

आधार सिर्फ पहचान ही नहीं, कई काम के भी

  • बैंक अकाउंट आप सिर्फ आधार कार्ड देकर खुलवा सकते हैं। दूसरा कोई डॉक्युमेंट देना जरूरी नहीं।
  • जन धन योजना में सिर्फ आधार के जरिए ही आपका काम हो जाएगा। दूसरा कोई डॉक्युमेंट नहीं लगाना होगा।
  • आपका आधार कार्ड बैंक अकाउंट से लिंक है तो गैस सब्सिडी आसानी से मिलेगी। इसमें अलग से कोई डॉक्युमेंट्स नहीं लगाना होंगे।
  • आधार कार्ड के जरिए आप सिर्फ 10 दिनों में पासपोर्ट ले सकते हैं। इस प्रॉसेस में पुलिस वेरिफिकेशन बाद में होता है।
  • आधार कार्ड है तो आप डिजिटल लॉकर का यूज कर सकते हैं। इसमें अपने सभी प्राइवेट डॉक्युमेंट्स को स्टोर कर सकते हैं।
  • आधार कार्ड वोटर ID कार्ड से लिंक करवाएंगे तो सरकार को फर्जी वोटर्स की पहचान करने में आसानी होगी।
  • यदि आपको पेंशन मिलती है तो अपने विभाग में आधार नंबर को रजिस्टर करवा दें। इससे आसानी से मासिक पेंशन मिल जाएगी।
  • कॉलेजों में एडमिशन के लिए आधार कार्ड को अनिवार्य कर दिया गया है।
  • अगर आप आधार कार्ड होल्डर हैं तो आप ई-हॉस्पिटल सेवाओं का लाभ उठा सकते हैं।
  • आपके पास आधार कार्ड है तो आप घर बैठे प्रॉपर्टी ट्रांजेक्शन्स कर सकते हैं।

आधार कार्ड कैसे बनवाएं

  • अगर आपका इलाका ऑनलाइन अपॉइंटमेंट की वेबसाइट पर उपलब्ध नहीं है तो आधार कार्ड बनवाने के लिए आपको किसी नजदीकी आधार कार्ड केंद्र पर जाना होगा। आधार कार्ड बनवाने के लिए आप ऑनलाइन अपॉइंटमेंट के बिना भी अपने किसी नजदीकी आधार कार्ड केंद्र पर जा सकते हैं। कागजात के तौर पर पासपोर्ट, पैन कार्ड, राशन कार्ड या फिर सार्वजनिक वितरण प्रणाली (PDS) फोटो कार्ड, मतदाता पहचान पत्र, ड्राइविंग लाइसेंस या भारत सरकार द्वारा जारी फोटो पहचान पत्र में कोई एक। अपने वार्ड पार्षद से इसे सत्यापित भी करवा लें।
खबरें और भी हैं...

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज मार्केटिंग अथवा मीडिया से संबंधित कोई महत्वपूर्ण जानकारी मिल सकती है, जो आपकी आर्थिक स्थिति के लिए बहुत उपयोगी साबित होगी। किसी भी फोन कॉल को नजरअंदाज ना करें। आपके अधिकतर काम सहज और आरामद...

और पढ़ें