'काली' के पोस्टर पर विवाद, पटना में दायर हुआ परिवाद:हिंदू देवी-देवताओं के अपमान का आरोप, फिल्म मेकर और एक्ट्रेस को कड़ी सजा की मांग

पटना3 महीने पहले
'काली' फिल्म का विवादित पोस्टर।

पटना के व्यवहार न्यायालय में फिल्म मेकर लीना मनिमेकलाई के खिलाफ परिवाद दर्ज कराया गया है। मामला लीना की फिल्म 'काली' के पोस्टर से जुड़ा है। परिवाद दर्ज कराने वाले कृष्णा कुमार उर्फ कल्लू का कहना है कि पोस्टर में मां काली को सिगरेट पीते दिखाया गया है। इससे धार्मिक भावना को ठेस पहुंचाने और दंगा भड़काने का षड्यंत्र रचने का भाव प्रकट होता है। ऐसे हिंदू देवी-देवताओं की फोटो लगाकर हिंदुओं को नीचा दिखाया गया है। इससे करोड़ों हिंदू आहत हुए हैं।

कृष्णा कुमार उर्फ कल्लू ने परिवाद में लीना मनिमेकलाई के साथ फिल्म में काम करने वाली अभिनेत्री और 10 से 15 अज्ञात लोगों पर हिंदू आस्था को ठेस पहुंचाने का आरोप लगाया है। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह से ऐसे लोगों को तुरंत गिरफ्तार कर कड़ी सजा देने की मांग की है।

क्या है विवाद की वजह?

फिल्म 'काली' के एक पोस्टर से विवाद शुरू हुआ है। पोस्टर में पोशाक पहने एक महिला को दिखाया गया है, जो काली मां के स्वरूप में है। पोस्टर में काली मां को धूमपान करते दिखाया गया है। पोस्टर के बैकग्राउंड में एक झंडा दिखाया गया है। झंडा एक समलैंगिक समुदाय का बताया जा रहा है। पोस्टर के आते ही बवाल शुरू हो गया है। ट्विटर पर हैशटैग 'अरेस्ट लीना मणिमेकलाई' ट्रेंड कर रहा है।

सोशल मीडिया पर विरोध दर्ज करा रहे लोगों का कहना है कि यह तो हिंदू देवी है, इसलिए कोई कार्रवाई नहीं की जा रही। दूसरे धर्म का मामला होता तो अभी तक सिर कलम हो जाता।