पहले दिन 9 घंटे तक चली पूजा सिंघल से पूछताछ:DC रहते उनके खाते में 1.43 करोड़ रुपए कहां से आए, नहीं दे पाई जवाब

पटना4 महीने पहले

ED ऑफिस में मंगलवार को पूजा सिंघल से लगभग 9 घंटे तक पूछताछ चली। वो सुबह 11.15 बजे ED ऑफिस पहुंची थी और लगभग 8.15 बजे बाहर निकली। ED सूत्रों के मुताबिक, पहले दिन उनसे मनरेगा घोटाले से संबंधित सवाल ही पूछे गए। ED बुधवार को भी उनसे पूछताछ कर सकती है।

ED के अधिकारियों ने उनसे पूछा कि DC रहते हुए उनके खाते में आय से 1.43 करोड़ रुपए कहां से आए? इस सवाल का जवाब सिंघल नहीं दे पाई। मनरेगा घोटाले के वक्त पूजा सिंघल ही खूंटी की तत्कालीन उपायुक्त थी, तब मनरेगा की योजनाओं में 18.06 करोड़ रुपए का घोटाला हुआ था।

सिंघल ने कहा- इस मामले में उन्हें क्लीन चिट मिल चुका है

सिंघल ने ईडी के अधिकारियों को बताया कि उन पर लगे भ्रष्टाचार के आरोपों की जांच के लिए राज्य सरकार ने एक जांच समिति गठित की थी। जांच समिति ने उन्हें उक्त मामले में क्लीन चिट दे दिया है। उन्होंने बताया कि उस समय भी उन्होंने अपना जवाब दाखिल किया था। उसी जवाब पर आज भी वह कायम हैं। जवाब की कॉपी राज्य सरकार से लेकर देखी जा सकती है।

राम विनोद सिन्हा ने कभी उनका नाम नहीं लिया

जब ED ने पूछा कि पूर्व में गिरफ्तार कनीय अभियंता राम विनोद प्रसाद सिन्हा ने बताया है कि 5 प्रतिशत कमीशन उपायुक्त कार्यालय को पहुंचता था। इस पर सिंघल का कहना है कि क्या राम विनोद प्रसाद सिन्हा ने उनका नाम लिया था? इस मामले में उनके नाम को जोड़ने का प्रयास किया जा रहा है। वह इसमें कहीं नहीं थी। जब उनसे सवाल किया गया कि आप सिन्हा को बहुत प्रोटेक्ट करती थी, इतना आरोप लगने के बाद भी आपने उसे बचाने का प्रयास किया।

पूजा पर लटकी गिरफ्तारी की तलवार

खान सचिव पूजा सिंघल पर अब गिरफ्तारी की तलवार लटक रही है। फिलहाल ED उनसे खूंटी में हुए मनरेगा घोटाले के मामले में पूछताछ कर रही है। उनके CA सुमन सिंह और पति अभिषेक झा से लगभग 20 घंटे तक पूछताछ के बाद ED ने अब पूजा सिंघल को बुलाया है। सूत्रों की मानें तो इस मामले में उनकी गिरफ्तारी भी हो सकती है।

वहीं, दूसरी तरफ सरकार अपनी इमेज बचाने के लिए पूजा सिंघल पर कार्रवाई की तैयारी कर रही है। इस मामले पर CM हेमंत सोरेन ने मुख्य सचिव सुखदेव सिंह समेत अन्य आला अधिकारियों के साथ चर्चा भी की है। ED अगर पूजा सिंघल पर नकेल कसती है तो सरकार तत्काल तौर पर उन्हें सस्पेंड कर सकती है। पढ़िए पूरी खबर

पूजा के 25 ठिकानों पर पड़ा था छापा

ED ने पूजा सिंघल और उनके करीबियों से जुड़े 5 राज्यों के 25 ठिकानों पर शुक्रवार को छापा मारा था। CA सुमन सिंह के पास से 19.31 करोड़ रुपए कैश मिले थे। इसके बाद ED ने सुमन सिंह को गिरफ्तार कर लिया है।

मनरेगा घोटाले के दौरान हुआ था पैसे का खेल

कोर्ट में ED ने सुमन सिंह को रिमांड पर लेने से पहले जानकारी दी थी कि मनरेगा घोटाले के दौरान जब पूजा सिंघल कई जिलों में DC थीं, तब उनके और उनके पति के खाते में वेतन से अधिक 1.43 करोड़ रुपए थे। पूजा ने 3.96 लाख 2015 में सुमन सिंह के अकाउंट में ट्रांसफर किए।

CA के अलग-अलग अकाउंट में ट्रांसफर हुए पैसे

2016 में 6.39 लाख रुपए संतोष क्रशर मेटल वर्क्स के खाते में ट्रांसफर किए गए। संतोश क्रशर मेटल वर्क में सुमन सिंह और उसके पिता पार्टनर हैं। वहीं 2017 में 6.22 लाख रुपए राधे श्याम एक्सप्लोसिव प्राइवेट लिमिटेड के खाते में ट्रांसफर किए। तीनों खाते सुमन कुमार सिंह से संबंधित हैं।

21 साल की उम्र में IAS बनी थीं पूजा

उत्तराखंड की रहने वाली पूजा सिंघल 21 साल की उम्र में IAS बन गई थीं। 21 साल की पूजा सबसे कम उम्र में IAS कैडर में प्रवेश करने के लिए पूजा सिंघल का नाम लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड्स में दर्ज किया गया था। पूजा साल 2000 बैच की भारतीय प्रशासनिक सेवा (IAS) की अधिकारी हैं। झारखंड के कई जिलों में DC रहने के बाद फिलहाल वो सेक्रेटरी के पद पर कार्यरत हैं।

ससुर सुरमा लगाने के थे शौकीन

पूजा सिंघल के ससुर भी उतने ही रंगीनमिजाज थे। पूजा सिंघल के दूसरे पति अभिषेक झा के पिता कामेश्वर झा संयुक्त बिहार में जिला समाज कल्याण पदाधिकारी थे। अपने कार्यकाल के दौरान वे भी खूब चर्चा में रहे हैं। सुरमा लगाने की वजह से हमेशा अपने अधिकारियों और कर्मियों के बीच चर्चा में रहते थे। दुमका के कार्यकाल के दौरान तत्कालीन DC ने उनकी जमकर फटकार भी लगाई थी। इतना ही नहीं उनके महिला सहयोगियों ने भी उन पर गंभीर आरोप लगाया था।

पूजा के प्यार में आस्ट्रेलिया छोड़ आए थे अभिषेक:फेसबुक से हुई दोस्ती, जिम में दिल दे बैठी IAS सिंघल, फिर लिए सात फेरे

पूजा सिंघल के पति से ED की पूछताछ:CA सुमन और अभिषेक झा से सवाल-जवाब; IAS की डायरी भी खोलेगी राज