पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Patna
  • After Black And White, Infection Of Aspergillus Fungus Was Found In 8 Patients Who Were Cured Of Corona

इसमें चेस्ट में होता है संक्रमण:ब्लैक व व्हाइट के बाद अब कोरोना के ठीक हुए 8 मरीजों में मिला एस्परगिलस फंगस का संक्रमण

पटनाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • सिटी स्कैन से भी आसान नहीं इसकी पहचान

कोरोना से ठीक हुए मरीजों में ब्लैक, व्हाइट व येलो फंगस के बाद एस्परगिलस फंगस से संक्रमित होने के मामले सामने आए हैं। इस बीमारी को एस्परगिलोसिस के नाम से जाना जाता है। यह कोई नई बीमारी नहीं है, पर दावा किया जा रहा है कि कोरोना से ठीक हुए मरीजों में खासकर पटना में पहली बार इसकी पहचान हुई है।

कंकड़बाग स्थित निजी अस्पताल के वरीय फिजिशियन डॉ. विकास सौरभ और पल्मोनोलोजिस्ट डॉ. साकेत शर्मा ने बताया कि बिहार में पहली बार कोरोना से ठीक हुए 8 मरीजों में एस्परगिलस फंगस से संक्रमित मरीज की पहचान हुई है। एस्परगिलोसिस की दवा उपलब्ध हैं और इलाज भी संभव है। सीटी स्कैन में भी इसकी पहचान आसान नहीं है।

लंबा बुखार, खांसी, भूख नहीं लगना, दम फूलना आदि लक्षण

पीएमसीएच के माइक्रोबायोलॉजी विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ. सत्येंद्र नारायण सिंह का कहना है कि इसका संक्रमण चेस्ट में लगता है, जबकि ब्लैक फंगस का संक्रमण नाक, आंख और ब्रेन में। कोरोना से ठीक होने के बाद मरीज में दो सप्ताह से अधिक बुखार, भूख का नहीं लगना, खांसी, दम फूलना आदि इसके लक्षण हैं।

खबरें और भी हैं...