कोर्ट कैंपस से कुख्यात ने की भागने की नाकाम कोशिश:सिपाही को धक्का दे कर नीचे की जगह भागा छत की ओर, 20 मिनट के अंदर पकड़ा गया

पटना6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
फरार होने के बाद फिर से पकड़ा गया। - Dainik Bhaskar
फरार होने के बाद फिर से पकड़ा गया।

पटना के सिविल कोर्ट में पेशी के लिया गया कुख्यात अपराधी सोनू कुमार ने एक बार फिर से भागने की कोशिश की। मगर, इस बार भी इसकी ये कोशिश नाकाम रही। फिर से पुलिस ने उसे अपने कस्टडी में ले लिया है। कोर्ट कैंपस में यह घटना तब हुई, जब उसे पेशी के लिए जेल से लाया गया था। गुरुवार को NIA कोर्ट में उसकी पेशी थी। इसी के लिए उसे बेउर जेल से सिविल कोर्ट लाया गया था। बात दोपहर की है। फास्ट ट्रैक कोर्ट वाली नई बिल्डिंग के सेकेंड फ्लोर पर पेशी के लिए उसे पुलिस का जवान लेकर गया था। उसी दरम्यान उसने ट्यॉलेट जाने की बात कही। उसी फ्लोर के बाथरूम में वो गया। वहां से बाहर निकलते वक्त में उसने सिपाही को जोर का धक्का दे दिया।

सिपाही फर्श पर गिर गया और कुख्यात सोनू वहां से फरार हो गया। पर इसने गलती यह की कि नीचे की जगह बिल्डिंग के छत की ओर भाग गया। इसके भागते ही कोर्ट कैंपस की सुरक्षा में तैनात पुलिस टीम के बीच हड़कंप मच गया। इसके पकड़ने के लिए पूरे कैंपस की घेरा बंदी की गई। इस कारण यह अपराधी कोर्ट कैंपस के बाहर नहीं भाग सका। करीब 20 मिनट की मशक्कत के बाद उसे पुलिस ने अपने कब्जे में लिया।

सोनू कुमार नाम का यह कुख्यात अपराधी पटना सिटी के मालसलामी का रहने वाला है। बम ब्लास्ट से लेकर, लूट, हत्या और आर्म्स एक्ट के मामलों में कई केस इसके उपर दर्ज हैं। पिछले 5 सालों से यह बेउर जेल में बंद है। साल 2018 में पटना सिटी कोर्ट कैंपस से इसे भगाने की साजिश रची गई थी। उस वक्त भी इसे पेशी के लिए लाया गया था। पेशी के बाद जब कैदी वैन में जेल जाने के लिए बैठा तभी इसके साथ बम लेकर वहां आए थे। बम ब्लास्ट किया भी। मगर, कैदी वैन के ड्राइवर की तेजी की वजह से उस वक्त भी सोनू को उसके साथी भगाने में नाकाम रहे थे। फिलहाल आज के मामले में अब सोनू के खिलाफ पीरबहोर थाना में अलग से एक केस दर्ज किया जाएगा।