अखरुजमां है आजमगढ़ के सुल्तान खान का असली नाम:जाली नोट के मामले में पटना से दिल्ली पुलिस ने किया था गिरफ्तार, बेटी से रेप का भी आरोपी

पटना6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बाएं वाली फोटो 15 जनू 2022 की है, जबकि दाएं वाली फोटो फरवरी 2017 की। - Dainik Bhaskar
बाएं वाली फोटो 15 जनू 2022 की है, जबकि दाएं वाली फोटो फरवरी 2017 की।

चंडीगढ़ के कारोबारी पारस कुमार पोपलानी के केस में पटना रेल पुलिस ने उत्तर प्रदेश के आजमगढ़ के रहने वाले जिस सुल्तान खान को गिरफ्तार किया है, उसका असली नाम अखरुजमां है। उत्तर प्रदेश की पुलिस इसके ऊपर गुंडा एक्ट भी लगा चुकी है। ये बेहद ही कुख्यात अपराधी रहा है। उत्तर प्रदेश के साथ ही बिहार और दिल्ली के अलावा नेपाल से इसका गहरा रिश्ता रहा है। ये सिर्फ उत्तर प्रदेश की पुलिस के लिए ही नहीं बल्कि बिहार पुलिस का भी वांटेड रहा है।

पटना के राजीव नगर थाना में दर्ज है रेप का केस

सुल्तान खान उर्फ अखरुजमां के उपर पटना के राजीव नगर थाना में रेप का केस दर्ज है। पटना में रहने वाली वाइफ ने ही इसके उपर अपनी नाबालिग बेटी से रेप करने का केस दर्ज कराया था। पुलिस से जुड़े सूत्रों की मानें तो उस रेप केस में सुल्तान खान आज भी वांटेड है। जब केस दर्ज हुआ था, तब से वो फरार ही चल रहा था। पटना पुलिस उसे गिरफ्तार नहीं कर पाई थी।

जाली नोट के मामले में 5 साल पहले पटना से हुई थी गिरफ्तारी

सुल्तान खान उर्फ अखरुजमां जाली नोटों का पुराना धंधेबाज है। 4 करोड़ रुपए के नकली नोट के एक केस में जांच करते हुए करीब 5 साल पहले दिल्ली पुलिस के स्पेशल सेल की टीम पटना आई थी। राजीव नगर थाना की मदद से चंद्र विहार कॉलोनी में छापेमारी की थी। उस वक्त सुल्तान खान को यहीं से गिरफ्तार किया गया था। जिसके बाद पता चला था कि सुल्तान ने 90 दिनों में 4 करोड़ रुपए को खपाया था। उस वक्त छापेमारी के दरम्यान पुलिस को इसके घर से 20 हजार रुपए के जाली नोट भी हाथ लगे थे। इसका नेटवर्क बिहार, झारखंड, दिल्ली और उत्तर प्रदेश सहित कई राज्यों में फैला है। अक्सर जाली नोट की खेप को यह नेपाल के रास्ते बिहार लाता था।

अब आमने-सामने होगी पूछताछ

पटना के रेल SP प्रमोद कुमार मंडल के अनुसार जल्द ही उनकी टीम सुल्तान खान को रिमांड पर लेगी। क्योंकि, मगध एक्सप्रेस से 8 मई को पारस कुमार पोपलानी के उतारे गए 55 लाख से भरे बैग के केस में कई ऐसे सवाल हैं, जिसका जवाब अब तक नहीं मिला है। सबसे बड़ा सवाल है कि वो रुपए कहां गए? पारस कुमार पोपलानी को कब से जानता था? इसे जो रुपए सुल्तान ने दिए थे क्यों जाली नोट था? हर सवाल का जवाब जानने के लिए रेल पुलिस पारस कुमार पोपलानी को भी पटना बुलाएगी। दोनों को आमने-सामने बैठाकर पूछताछ करेगी और हर एक सवाल का जवाब जानने की कोशिश करेगी।