कार्रवाई:बेलसर ओपी में मद्य निषेध पटना की टीम ने शराब के साथ दो कारोबारी को पकड़ ओपी को सौंपा

पटेढ़ी बेलसर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • लगभग पांच सौ मीटर की दूरी पर सोरहत्था चौर के रास्ते में हुई कार्रवाई

बेलसर ओपी कार्यालय के लगभग पांच सौ मीटर की दूरी पर सोरहत्था चौर जाने बाली रास्ते में मद्य निषेध की पटना टीम ने पहुंचकर 51 कार्टन शराब की बरामदगी के साथ दो कारोबारी व कई गाड़ी को बरामद कर बेलसर पुलिस की कार्रवाई के लिये सौंप दिया। बेलसर ओपी क्षेत्र में भले ही पुलिस शराब माफिया के मंसूबे के विफल करने की कसम खा ली हो परन्तु शराब के कारोबार पर नियंत्रण नही लगा पा रही है। जिसको ले बाहरी टीम आकर शराब पकड़ती है। टीम के लोगों के अनुसार शराब रवाल्सन गोल्ड ब्रांड की है।

जिसमे एक सौ अस्सी एमएल से लेकर सात सौ पचास एमएल की बोतलें शामिल हैं। साथ ही किंग फिशर ब्रांड की बियर की बोतल भी बरामद की है। गिरफ्तार व्यक्ति में सोरहत्था गांव के जिनिश कुमार यादव और करनेजी गांव के बीरू कुमार सिंह है। टीम ने लाल रंग के आल्टो कार, एक बोलोरो, एक मोटरसाइकिल भी बरामद किया है। पुलिस कर्मी ने यह भी बताया कि बरामद शराब बाला बोलेरो पर शादी का स्टिकर लगा है। लग्न को देखते ही कारोबारी भी बराती की गाड़ी बनाकर पुलिस को चकमा देने का काम करते है। वैसे भी गाड़ी क्षेत्र के बड़े टेंट हाउस संचालक की बतायी गयी है।

दो माह पूर्व छापेमारी में मिली इनपुट पर काम होता तो शराब बिक्री पर काबू हो जाता
दो माह पूर्व भी पटना टीम ने बड़ी मात्रा में शराब बरामद की थी। साथ ही उस छापेमारी माफिया के काला चिठ्ठा यानी नाम पता मोबाइल नंबर की डायरी भी हाथ लगी थी। जो डायरी टीम ने बेलसर ओपी को सौंप दिया था। अगर उसपर अमल होता तो शराब मिलना बंद हो जाता। जिस तरह शराब मिला उससे स्पष्ट संकेत है कि बीयर और उक्त ब्रांड की शराब की खेप क्षेत्र में आया तभी तो पटना टीम को हाथ लगी। ओपी अध्यक्ष अशोक राम ने शराब पकड़े जाने की पुष्टि की है। साथ ही दो चार चक्का, एक मोटरसाइकिल के साथ दो व्यक्ति गिरफ्तार होने बात कही है।

खबरें और भी हैं...