बिहार में सर्दी की पहली बारिश:48 घंटे में बढ़ेगी ठंडक, तेजी से गिरेगा पारा, पटना समेत 38 जिलों में आज बारिश का अलर्ट

पटना6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

बिहार में ठंड की पहली बारिश हुई है। इस बारिश का असर 48 घंटे बाद बड़े पैमाने पर दिखाई पड़ेगा। मंगलवार की रात से लेकर बुधवार को बारिश का पूर्वानुमान है। बिहार में जिस इलाके में बारिश नहीं होगी वहां भी धूप के आसार नहीं हैं। बुधवार को राज्य के सभी जिलों में बारिश के साथ क्लाउडी मौसम का पूर्वानुमान है। मौसम विभाग ने पूर्वा में 28 और 29 दिसंबर को बारिश को लेकर अलर्ट किया था।

दो दिन की बारिश का बड़ा असर

पटना सहित बिहार के 38 जिलों में बारिश को लेकर अलर्ट किया गया है। मौसम विभाग का कहना है कि मंगलवार 28 और बुधवार 29 दिसंबर को बारिश होगी। मंगलवार की शाम राज्य के लगभग सभी जिलों में बारिश हो रही है। मौसम विभाग का कहना है कि बारिश को लेकर पहले ही पूर्वानुमान था और पूर्वानुमान के मुताबिक ही पटना से लेकर राज्य के सभी जिलों में बारिश हो रही है। किसी जिले में कम तो किसी में बारिश का प्रभाव अधिक देखने को मिल रहा है।

बुधवार को धूप की संभावना नहीं

मंगलवार की बारिश के साथ मौसम विभाग का कहना है कि बुधवार को भी बारिश होगी। पटना सहित 38 जिलों में बारिश का पूर्वानुमान है। मौसम विभाग का कहना है कि बारिश का पूर्वानुमान है जहां बारिश नहीं होगी वहां का मौसम पूरी तरह से क्लाउडी आसमान वाला होगा जिससे ठंड का पूरा असर दिखाई देगा। बारिश के कारण मौसम का मिजाज बदल जाएगा।

आने वाले दिनों में कोहरे का बढेगा असर

मौसम विभाग का कहना है कि दो दिनों की बारिश के कारण मौसम पूरी तरह से चेंजर का काम करेगा। मौसम विभाग का कहना है कि बारिश का असर 48 घंटे में पूरी तरह से दिखाई देगा। मौसम ठंडा होने के बाद भी फिर से न्यूनतम तापमान बढ़ गया था। बारिश के कारण फिर मौसम का मिजाज बदल रहा है। अब तेजी से न्यूनतम तापमान में कमी आएगी। 48 घंटे बाद से ही बड़ा प्रभाव देखने को मिलेगा। मौसम विभाग के एक्सपर्ट का कहना है कि आने वाले दिनों में कोहरे का असर बढ़ जाएगा। अब तक मीडियम रेंज से फॉग था जो अब डेंस यानी काफी दूर तक प्रभाव करने वाला होगा। न्यूनतम तापमान जो 8 डिग्री तक पहुंच गया था वह अब तेजी से कम होने लगेगा।

चलेगी शीतलहर

बिहार में बारिश के कारण अब शीतलहर का प्रकोप भी बढ़ जाएगा। कल के बाद से मिनिमम तापमान तो बढ़ जाएगा साथ ही शीतलहर का असर भी तेजी से बढ़ जाएगा।शीत लहर के साथ कोहरे में ट्रेन और फ्लाइट के साथ सड़क पर निजी वाहनों के लिए भी समस्या होगी।